बाबा हरभजन सिंह मंदिर सिक्किम – यहा होती है एक जवान की आत्मा की पूजा – करती है देश की रक्षा

आस्था और विश्वास से यह सब मुमकिन है | भारत अनोखा देश है | यहा हिन्दू धर्म में अजीबोगरीब किस्से मंदिरों से जुड़े हुए है | पर इन्हे हम अन्धविश्वास नही आस्था की क्षेणी में रख सकते है | सनातन धर्म में 33 कोटि देवी देवताओ के मंदिर तो पूजनीय है ही पर इसके अलावा भी बहुत सारे मंदिर ऐसे है जहा देवी देवता नही बल्कि किसी अन्य की पूजा होती है |

राजस्थान में बुलेट बाबा का प्रसिद्ध मंदिर है जहा बाइक की पूजा होती है | इसी तरह मत्स्य देवी के मंदिर में मछली की पूजा की जाती है |

सैनिक हरभजन सिंह मंदिर
आज हम एक और अनोखा और चमत्कारी मंदिर आपके सामने लाये है जहा एक शहीद मृत सैनिक की पूजा होती है | यह मंदिर पंजाब रेजिमेंट के जवान हरभजन सिंह की आत्मा का है | यह पिछले 45 सालो से देश में आने वाले सीमा पर संकट के बारे में जवानों को बताती है

कौन है हरभजन सिंह
बाबा हरभजन सिंह फोटो
एक शहीद सैनिक जिसकी आत्मा आज भी देश की सेवा पूर्वी भाग पर कर रही है | यह आत्मा है हरभजन सिंह जी की | इनका जन्म 30 अगस्त 1946 को हुआ और इन्होने 9 फरवरी 1966 को भारतीय सेना में पद प्राप्त किया | दो ही साल बाद सिक्किम में एक पहाड़ से इनका पैर फिसल गया और इनकी मृत्यु हो गयी | तीन बाद उनका शरीर मिला और उन्होंने अपने मित्र को बताया की उनकी समाधी बनाई जाये | उनके मित्रों ने उनकी बात का सम्मान किया और एक बंकर में ही उनका मंदिर बना दिया | समय समय पर सपने में हरभजन सिंह देश हित में सुझाव देते रहे | उनकी बाते भी सच्ची होने लगी | इस तरह सभी सैनिको की उनके प्रति आस्था बढ़ गयी | इनके चमत्कारी किस्सों के कारण यह एक आस्था का केंद्र बन गया है |

आज भी करते है अपनी ड्यूटी

आज भी यह देश के लिए अदर्शय रूप से अपनी ड्यूटी करते है और पडोसी सरहद पार होने वाली घटनाओं की जानकारी सपने में आकर देते है | सेना की तरफ से इनको सेलेरी भी दी जाती है | इस स्थान पर जो सेना में नया सैनिक आता है वो इनके मंदिर में आके आशीर्वाद जरुर लेता है | भारत और चीन की फ्लैग मीटिंग में इनके लिए भी एक कुर्सी लगाई जाती है |

Leave a Reply

Your email address will not be published.