बुर्ज खलीफा इतनी मजबूती से कैसे बना है, इसकी क्या गारंटी है कि ये कभी गिरेगा नहीं? जानिए

जो पैदा हुआ वो एक दिन मरता भी है और जिसका निर्माण हुआ वो कालखंड में विध्वंश भी होता ही है।केवल आत्मा ही अजर अमर है इस नश्वर संसार मे।

फिर भी बुर्ज खलीफा को बनाने में मजबूती का काफी ध्यान रखा गया है वैसे प्रकृति के विध्वंशक स्वरूप के आगे भला किसकी चली है।अच्छे अच्छे किले,नगर यहाँ तक की सभ्यताएं भी समाप्त हो गयी।

बुर्ज खलीफा के कंस्ट्रक्शन से जुड़े फैक्ट्स

* प्राइमरी स्ट्रक्चर मजबूत कंक्रीट का।
* निर्माण में 330,000 क्यूबिक मीटर कंक्रीट और 55,000 टन स्टील का इस्तेमाल।
* निर्माण में तीन टावर क्रेनों का इस्तेमाल किया गया, एक क्रेन 25 टन का वजन उठाने में सक्षम।
* 45,000 क्यूबिक मीटर कंक्रीट का इस्तेमाल सिर्फ बिल्डिंग की नींव बनाने में हुआ।
* नींव के लिए 1.5 मीटर डायमीटर वाले 43 मीटर लंबे 192 पाइल्स बनाए गए। ये जमीन में 50 मीटर गहराई तक बनाए गए।
* दुबई की भीषण गर्मी का सामना करने के लिहाज से इसकी क्लैडिंग तैयार की गई।
* बुर्ज खलीफा की बाहरी क्लैडिंग के लिए 26000 ग्लास पैनल इस्तेमाल किए गए।
* इसके लिए चीन से 300 क्लैडिंग स्पेशलिस्ट बुलाए गए थे।
* टॉप फ्लोर का तापमान ग्राउंड फ्लोर की तुलना में 15 डिग्री कम।
* निर्माण में 97 अरब रुपए की लागत आई।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *