बड़ा झटका! बैंकों में चालू खाता खोलना कर दिया गया बंद

रिजर्व बैंक (भारतीय रिजर्व बैंक) ने गुरुवार (6 अगस्त) को बैंकों को उन ग्राहकों के लिए चालू खाता (चालू खाता) खोलने पर रोक लगा दी, जिन्होंने कैश लोन या ओवरड्राफ्ट (ओवरड्राफ्ट) की सुविधा ली हुई है। आरबीआई ने जोर देकर बोला कि इस मुद्दे में अनुशासन की आवश्यकता है। एक अधिसूचना में केंद्रीय बैंक (RBI) ने बोला कि नया चालू खाता (चालू खाता) खोलने की तुलना में सभी लेन-देन नकद लोन (नकद ऋण) या ओवरड्राफ्ट (OD) खाते के जरिये किया जाना चाहिए।

हालांकि भारतीय रिजर्व बैंक ने यह नहीं बताया कि इस कदम के पीछे क्या कारण है। बताते चलें कि 4000 करोड़ रुपये से अधिक पीएमसी सहकारी बैंक स्कला मुद्दा में कई खाते खोले जाने के बारे में पता चला था। अधिकारियों का बोलना है कि इससे व्यवस्था के साथ जो धोखा किया जाता था, गड़बड़ी होती थी उस पर रोक लगती। इससे अंतत: जमाकर्ताओं के धन का संरक्षण हो सकेगा।

रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने गुरुवार को कहा, ‘कर्ज के लिए उपयुक्त कदम उठाना महत्वपूर्ण है। ‘उन्होंने बोला कि कर्जदारों द्वारा कई खातों के उपयोग को लेकर चिंता जतायी जा रही है। इसको देखते हुए कई बैंकों से लोन सुविधा लेने वाले कर्जदारों द्वारा ऐसे खाते खोले जाने को लेकर एहतियाती कदम पिके महत्वपूर्ण हैं।

आरबीआई के अनुसार चालू खाता खोलने के बारे में बैंकों को अनुशासन बरतने की आवश्यकता है। कोई भी बैंक इसी तरह ग्राहकों के चालू खाते को नहीं खोलेगा जो बैंकों से नकद लोन (सीसी) / ओवरड्राफ्ट के रूप में ऋण की सुविधा प्रदान करता है। ये ग्राहक के सभी लेन-देन सीसी / ओडी खाते के जरिये किए जा सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.