भरतपुर के वर्तमान राजा कौन है? जानिए

ब्रिटिशों के जमाने मे हमारे देश मे कई संस्थाने थी। वे अपने क्षेत्र पर नियंत्रण रखा किया करते थे, जिन पर अंत मे ब्रिटिश सरकारका नियंत्रण हुआ करता था।

देश स्वतंत्र होने के बाद धीरे धीरे, कभी प्यार मोहब्बत से तो कभी सैनिकी बल आजमाकर (जैसे हैदराबाद और गोवा), इन्हें भारत मे विलीन किया गया। कश्मीर के महाराजा हरी सिंह की कहानी तो लगभग सभीको ज्ञात है।

सरकारकी तरफ से इन सभी राजा महाराजाओं को कुछ विशेष अधिकारों के साथ साथ तनखा भी दी जा रही थी। 1971 में पारित संविधान के 26वे संशोधन द्वारा भारत सरकार ने इन सभी सुविधाओं को (तनखा सहित) बन्द कर दिया।

राजस्थान स्थित भरतपुर भी एक ऐसाही संस्थान है। जैसी की आम मान्यता है, ये सभी आज भी ‘राजा’ के नाम से जाने जाते है। इतनाही नही, वहां की जनता आज भी उन्हें ‘राजा’ की नजरियां से देखती है। जैसे कि मेवाड़ के महाराजा अरविंद सिंह, मैसोर के महाराजा यदुवीर वाडियार, जयपुर के महाराजा सवाई पद्मनाभ सिंह, जोधपुर के महाराजा गज सिंह वगैरा…

Leave a Reply

Your email address will not be published.