भारत में कुल मिलाकर कितने वेंटिलेटर उपलब्ध हैं? जानिए

वेंटिलेटर से जुड़ी एक मजेदार घटना बता रहा हूं। तीन चार साल पहले होली कि रात सभी भाई और बच्चे एक भैया के घर गए जमा हुए थे। भतीजा मेडिकल कॉलेज में पढ़ रहा था, अभी इंटर्नशिप कर रहा है। इतना बदमाश है कि पूछो मत। उस समय भी किसी कारण से कॉलेज से निलंबित था।

महिलाएं बाहर गेस्ट रूम में थी और हम सभी भाई अंदर के कमरे में। बाहर गेस्ट रूम में आया तो देखा गणपति की मूर्ति वेंटिलेटर पर रखी है। मैं समझ गया कि भतीजे को घर की सफाई को बोला गया होगा। मूर्ति को उसने ही वेंटिलेटर पर रख दिया होगा।

मेरे मुंह से निकला, ” गणपति वेंटिलेटर पर? तबीयत ज्यादा खराब है क्या?” सभी का बाकि समय उसकी खिचाई में ही बीता।

भारत में वेंटिलेटर/रेस्पिरेटर की संख्या 30,000 से 50,000 तक होने का अनुमान है। अमेरिका में वेंटिलेटर की संख्या एक लाख साठ हजार के करीब है फिर भी वहां इनकी कमी महसूस की जा रही है। भारत ही नहीं दुनिया के अधिकतर देश वेंटिलेटर के लिए चीन पर निर्भर हैं। कोविड 19 के कारण अचानक से इनकी जरूरत पूरी दुनिया में बढ़ गई है। जितने चाहिएं उतने उपलब्ध नहीं हैं। भारत ने 10,000 वेंटिलेटर के लिए ग्लोबल टेंडर निकाला है। इंपोर्ट ड्यूटी भी घटाई है। अगर भारत में कोरोना का संक्रमण अनियंत्रित होता है और करोड़ों लोगों में फैलता है तब भारत में इसकी जबरदस्त कमी हो जाएगी।

सिल्वर लाइनिंग यह है कि अचानक ऐसी परिस्थिति आ जाने से भारत के वैज्ञानिक और उद्यमी भी इस बारे में सजग हुए हैं और बहुत सस्ता वेंटिलेटर बनाने के लिए युद्ध स्तर पर कार्य कर रहे हैं। अभी जिन्हे डिजाइन करने का प्रयास किया जा रहा है वह शायद कुछ हफ्तों में टेस्ट कर फिर उत्पादन कर उपयोग में नहीं लाए जा सकेंगे पर अगर कोई देसी सस्ता वेंटिलेटर उपयोगी साबित होता है तो भविष्य के लिए फायदेमंद होगा।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *