भैंसो वाले हवाई जहाज की पढ़े मजेदार कहानी

एक गाँव में जोसी नाम का एक युवक रहता था।जोसी विदेश में पढ़ाई करने के बाद गाँव लौटा था इस कारण उसे बोहत घमंड था।जोसी गाँव में जहा भी जाता वहाँपर वो अपनी अंग्रेजी झाड़ना चालू कर देता था।

एक दिन जोसी की मुलाखात गाँव में पढ़ाने वाले हिंदी के स्कुल मास्टर से हुयी।जोसी उस स्कुल मास्टर से कहने लगा की,तुम्हे अंग्रेजी तो आती नहीं और तुम सरकार से फ्री का वेतन भी लेते हो तब मास्टर बोला,अरे जोसी मैं हिंदी पढ़ाने वाला मास्टर हु और अंग्रेजी आने से कोई आदमी बड़ा नहीं होता,आदमी बड़ा होता है लोगो के साथ अच्छा बोलने से और अच्छा रहने से।

मास्टर की ये बात सुनकर जोसी वहा से अपने घर निकल गया।जोसी ने अपने घर में एक हवाई जहाज बनाया था और वो अब उसे विदेश में बेचने वाला था।एक दिन जोसी अपने हवाई जहाज को उड़ाने के लिये रनवे में लेकर गया तब किसन उस रनवे पर भैंसे चरा रहा था।रनवे में भैंसो को देखकर जोसी किसन पर बोहत गुस्सा हुवा और किसन को वहाँ से भगा दिया।

बेचारा किसन अपने भैंसो के साथ जंगल में चला गया।जोसी ने अपना हवाई जहाज उड़ाया और वो ऊपर घुमने लगा तब अचानक हवाई जहाज के इंजन में खराबी आगयी और उसको हवाई जहाज जंगल में उतारना पड़ा।हवाई जहाज उतारने के बाद बोहत तेज बारिश होना सुरु हो गयी तब किसन वहाँपर आगया।

किसन जोसी को बताने लगा की,अगर वह थोड़ी देर वहाँपर रहा तो उसका हवाई जहाज नदी के पाणी के कारण दुब जायेगा।जोसी किसन की ये बात सुनकर सोच में पड गया की अब वह क्या करे,तब किसन ने अपने भैंस हवाई जहाज को बाँधा और उसकी मदत से हवाई जहाज को खीचने लगा।किसन अपने भैंसो की मदत से हवाई जहाज खीचकर गाँव लेकर आया।जोसी अब समझ चूका था की हमेशा आदमी ही आदमी के काम आता है इस कारण जोसी ने किसन को अपने साथ काम करने के लिये आमंत्रित किया और गाँव के लोगो के साथ भी वह अच्छेसे रहने लगा।उसके बाद जोसी ने अपना हवाई जहाज विदेशी आदमी को बेच दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.