मध्यम वर्ग के लोगों को अमीर बनने के लिए क्या जानना जरुरी है?

मध्यम वर्ग के लोगो को दो बातें जानने की सख्त जरुरत हैं —

फ्लैट निवेश नहीं होता हैं
गाड़ी निवेश नहीं होती हैं
आइये दोनों बातों को समझते हैं।

लोग अक्सर कहते हैं की रेंट पर रहने से अच्छा हैं खुद का घर खरीद लेते हैं। पर ऐसा करना हमेशा सही नहीं होता हैं। आज के जमाने मे ज़मीन इतनी महंगी हैं की अधिकतर लोग नहीं खरीद सकते इसलिए वो फ्लैट खरीदते हैं पर वो फ्लैट के लिए भी वही समझते हैं जो सोच उनकी जमीनों के लिए होती हैं की समय के साथ इसकी कीमत बढ़ेगी।

ऐसा बिलकुल नहीं होता हैं।

ज़ब कोई इंसान फ्लैट खरीदता हैं तो वो ये देखता हैं की कितने साल पुराना हैं। क्या आप कभी कोई 10–15 साल पुराना फ्लैट खरीदेंगे?

फिर आपने कैसे सोच लिया की अगर आप आज फ्लैट खरीदेंगे तो 10–15 साल बाद वो आसानी से बिक जाएगा वो भी महंगे दामों में?

अब आइये बात करते हैं गाड़ी लेने की।

लोग अक्सर कहते हैं की गाड़ी से सुविधा हो जाती हैं। बिलकुल सही बात हैं पर क्या आप रोज़ ऑफिस के अलावा कही और गाड़ी का इस्तेमाल करते है?

लोग कहते हैं परिवार के साथ कही जाने मे आसानी हो जाती हैं पर साल मे कितनी बार आप पुरे परिवार को ले कर निकलते हैं?

अब एक सच्ची घटना बताता हूँ। आज से लगभग ड़ेढ़ साल पहले मेरे एक मित्र ने मारुती की सेलेरिओ गाड़ी खरीदी थी लगभग पांच लाख रुपए मे। उसका कहना था की रोज़ कैब करने से गाड़ी खरीद लेना बेहतर हैं क्योंकि सस्ता पड़ता हैं।

उसका और मेरा ऑफिस घर से लगभग बराबर दुरी पर था। मैंने साल भर कैब का इस्तेमाल करा ऑफिस आने जाने के लिए और वो अपनी गाड़ी से गया। अब आइये कुछ गणित समझते हैं —

मेरा साल भर का कैब का खर्चा आया 28 हज़ार रुपए।

अब अगर मै अगले 20 साल यही करू और महंगाई बढ़ती हैं तो भी 8 लाख से ज्यादा रुपए खर्च नहीं होंगे और दूसरी तरफ मेरा दोस्त अगर अगले 20 साल एक ही गाड़ी चलाता हैं जो की लगभग असंभव हैं तो भी आइये एक बार उसके खर्चे समझते हैं —

5 लाख शुरुआती खर्च गाड़ी खरीदने का।

हर महीने 2.5 हज़ार का पेट्रोल और पेट्रोल की बढ़ती कीमत को देखते हुए अगर अगले 20 साल का हिसाब लगाए तो उसका पेट्रोल मे लगभग 8 लाख रुपए खर्च होंगे।

उसके ऊपर से हर साल सेर्विस कराना, इन्शुरन्स कराना और गाड़ी कभी ख़राब हुई तो उसका अलग खर्च ये सब भी कम से कम ले कर चले तो एक लाख रुपए हो जाते हैं।

इसका मतलब अगर वो गाड़ी खरीदता हैं तो उसका अगले 20 सालो का खर्चा कम से कम 14 लाख रुपए हैं जबकि दूसरी और मेरा सिर्फ 8 लाख रुपए हैं।

घर और गाड़ी के काफी समय नुकसान होते हैं जैसे ज़ब आप एक शहर से दूसरे शहर मे नौकरी के लिए चले जाते हैं या फिर एक ही शहर मे दूर ऑफिस मे काम करने लगते हैं। लोगो को समझने की जरुरत हैं ये चीजें निवेश नहीं बल्की गलतियाँ हैं जो समय के साथ उनकी धनराशी को खा जाती हैं।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *