महेंद्र सिंह धोनी की सबसे बढ़िया पारी कोनसी थी? जानिए

31 अक्टूबर 2005 को टीम इंडिया का सामना श्रीलंका से था। मुकाबला जयपुर के सवाईमान सिंह स्टेडियम में था। श्रीलंका ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 298 रन का पहाड़ स्कोर खड़ा किया था। ओपनर कुमार संगकारा ने भारतीय गेंदबाजों की खबर लेते हुए ताबड़तोड़ 138 रन की नाबाद पारी खेली थी।

उस मैच में टीम इंडिया के कप्तान रहे राहुल द्रविड़ ने युवा बल्लेबाज महेंद्र सिंह धोनी को मौका दिया तीसरे क्रम पर खेलने का। टीम ने महज 7 रन के योग पर ओपनर सचिन तेंडुलकर का विकेट गंवा दिया था। धोनी ने मौके पर चौका लगाते हुए टीम के लिए मैच विनिंग पारी खेली।

धोनी ने महज 145 गेंदों में 15 चौके व 10 छक्के जड़ते हुए नाबाद 183 रन की पारी खेल डाली और टीम इंडिया को बेहतरीन जीत दिला दी।

धोनी का सामना चमिंडा वास और मुथैया मुरलीधरन जैसे दिग्गज गेंदबाजों से था। उन्होंने अपने हेलीकॉप्टर शॉट का कमाल दिखाते हुए ताबड़तोड़ पारी खेली। धोनी ने वास और मुरलीधरन की बॉलिंग पर 49 रन बटोरे, जिसमें 2 छक्के और 4 चौके शामिल रहे।

सबसे ज्यादा मार खाई उपुल चंदाना ने। उनकी बॉलिंग पर धोनी ने 4 चौके व 4 छक्के लगाते हुए 160.52 के स्ट्राइक रेट से 61 रन बनाए।

धोनी द्वारा बनाया नाबाद 183 रन का स्कोर श्रीलंका के खिलाफ बेस्ट इंडियन स्कोर है। धोनी से पहले यह रिकॉर्ड सौरभ गांगुली के नाम था, जो कि मई 1999 में श्रीलंका के खिलाफ वनडे में 183 रन बनाकर आउट हो गए थे। धोनी ने नाबाद रहकर यह कीर्तिमान अपने नाम कर लिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.