महेंद्र सिंह धोनी के प्रति आपके मन में क्या छवि है? जानिए

हर बेहतरीन खिलाड़ी को एक न एक दिन संन्यास जरूर लेना होता है ये कड़वा सच है ।सर ब्रेडमैन भी रिटायर हुए,ब्रायन लारा रिटायर हुए,सौरव गांगुली रिटायर हुए,राहुल द्रविड़ रिटायर हुए रिकी पोंटिंग रिटायर हुए सचिन तेंदुलकर भी रिटायर हुए।ऐसे बहुत से नाम है एक दिन सबको रिटायर होना है विराट भी एक दिन रिटायर होंगे स्मिथ भी वार्नर भी और रोहित भी

एक बेहतरीन मिडल ऑर्डर बल्लेबाज जो टीम के हित के लिए फिनिशर बना।अगर वो चाहता तो 4 नंबर पर बल्लेबाजी करके 14–15 हजार रन बना लेता लेकिन उसने ऐसा नही किया।

एक बेहतरीन कप्तान जिसने आते ही 2007 में टीम को टी20 वर्ल्ड कप जिताया।टीम को टेस्ट में नंबर 1 बनाया।28 साल बाद 50 ओवर वर्ल्ड कप जीतकर सचिन के सपने को पूरा किया। 2013 में टीम को चैंपियंस ट्रॉफी का खिताब दिलाया।2015 वर्ल्ड कप में टीम को सेमीफाइनल तक पहुचाया।और 2019 के वर्ल्ड कप सेमीफाइनल में अगर धोनी रन आउट न होते तो आज विश्व चैंपियन कोई और होता।

एक चतुर विकेटकीपर जो नैनो सेकेंड में गिल्लियां बिखेर देता था।जो बिना देखे स्टम्प पे गेंद मार देता था।जो बल्लेबाजों को कंफ्यूज करके रन आउट कर देता था।विकेटों के बीच चीते जितना तेज दौड़ने वाला।जिसके सटीक निर्णय के कारण DRS को धोनी रिव्यू सिस्टम कहा जाने लगा।

टिकट कलेक्टर महेंद्र सिंह धोनी से आईसीसी की तीनों ट्रॉफियां जीतने वाला महेंद्र सिंह धोनी बनना इतना आसान नही।इसके पीछे कड़ी मेहनत त्याग और धैर्य का योगदान है। खिलाड़ी तो धोनी के पहले भी थे खिलाड़ी बाद भी होंगे। लेकिन धोनी जैसा कोई नही होगा।

क्रिकेट के 22 गज पर यूँ अनहोनी होने में

युग लगता है किसी एक को एम एस धोनी होने में।।

Leave a Reply

Your email address will not be published.