मांगलिक लड़की का क्या मतलब है?

मांगलिक लड़की का मतलब है कि उस कन्या (लड़की) पर मंगल ग्रह का विशेष प्रभाव है, जिसके कारण उसके विवाह में बाधा/ अड़चनों की संभावनाएं कन्या (लड़की) के माता-पिता को रहती है, अगर लड़की मांगलिक है और लड़का मांगलिक नहीं है तो फिर लड़के का स्वास्थ्य आदि प्रभावित हो सकता है,

एक मांगलिक कन्या का विवाह- एक मांगलिक लड़के से ही होना चाहिए लेकिन अगर किसी मांगलिक कन्या का विवाह किसी साधारण युवक (युवक के जो मांगलिक नहीं है) से बिना कुंडली मिलाएं विवाह हो जाता है तो पति पत्नी दोनों में अनबन आदि की संभावनाएं अधिक रहती है तथा दोनों का स्वास्थ्य भी प्रभावित हो सकता है,

यह मेरा ज्योतिष जगत का अनुभव है जो मैंने ज्योतिषाचार्य प्रयागराज आशुतोष वार्ष्णेय जी के सानिध्य में कई वर्षों तक सीखा एवं समझा है,मेरी ज्योतिष की शिक्षा ही इस उत्तर का मूल स्रोत है, मंगल ग्रह जब 1, 4, 7, 8, अथवा 12 वें घर में बैठा होता है तब तब कन्या मांगलिक कहलाती है, जरूरी नहीं है हर समय मंगली दोष के कारण ही विवाह आदि में अड़चनें बाधाएं एवं समस्या हो इसलिए किसी विद्वान ज्योतिषाचार्य से कुंडली का सही से आकलन कर आने के बाद ही अंतिम निष्कर्ष निर्णय पर पहुंचना चाहिए ,

मंगल दोष से संबंधित अन्य उत्तर मैंने जो लिखे हैं उसकी लिंक यहां पर दे रहा हूं ताकि आपको और लाभ मिल सके, प्रयागराज ग्रह नक्षत्र ज्योतिष शोध संस्थान के प्रसिद्ध ज्योतिषाचार्य बताते हैं कि मंगल दोष वालों की भी शादी बहुत अच्छी होती है इसमें कोई घबराने की बात नहीं है,बस जरूरत है सही मार्गदर्शन की और सही से कुंडली मिलान करवाने की,सही कुंडली मिलाकर शादी करी जाए तो मंगल दोष वाले पति पत्नी बहुत सुख पूर्वक अपना जीवन जीते हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published.