माला से मंत्र जप करते समय तर्जनी अंगुली से उस माला का स्पर्श करना क्यों निषेध है? जानिए वजह

जब मैंने गुरु दीक्षा ली थी तब इस विषय के बारे में भी बताया गया था आज गुरु कृपा से मैं इस गूढ़ विषय को आपके समक्ष रख रहा हूँ जैसा की हम सब जानते है हम तर्जनी ऊँगली को दोषारोपण के लिए प्रयोग करते है।

इसलिए हम तर्जनी ऊँगली से जप के समय माला को नहीं छू सकते। इसी कारण से इसे गौमुखी से बहार रखने की व्यवस्था है।यदि आपकी यह ऊँगली माला के मेरु पर्वत से छू जाती है तो आप पर दोष लगता है और साधना सफल नहीं होती।

अतः इसका विशेष ख्याल रखे। साथ ही जिस माला से जाप कर रहे हैं, उसे कभी खूंटी या कील पर न टांगें. इससे माला की सिद्धि समाप्त हो जाती है. जाप के बाद माला को गौमुखी में रखें या किसी वस्त्र में लपेट कर रखें जिससे किसी अन्य का स्पर्श आपकी जाप माला से न हो।

Leave a Reply

Your email address will not be published.