मिस्र के प्राचीन पिरामिड इतने प्रसिद्ध क्यों हैं? जानिए

“वैसे तो मिस्त्र में 138 पिरामिड हैं, पर इन में से गिजा का ‘ग्रेट पिरामिड’ ही प्राचीन विक्ष्व के सात अजूबों की सुची में है। बाकी के 6 अजूबें काफी हद तक क्षतिग्रस्त हो चुके हैं पर ग्रेट पिरामिड का केवल ऊपर का 10 मीटर का हिस्सा ही गिरा है। इस पिरामिड के पास दो और पिरामिड भी हैं जो इससे छोटे हैं।”

“गीजा के ‘ग्रेट पिरामिड’ में 23 लाख चुना पत्थरों का प्रयोग किया गया। इन टुकड़ों में से हर एक का वज़न 2 से लेकर 30 टन तक का है। इस पिरामिड का आधार 13 एकड़ जमीन में फैला हुआ है।”

“गीजा के ‘ग्रेट पिरामिड’ को बनाने के लिए लगभग 30 लाख मजदूरों ने 23 साल तक काम किया।”

“गीजा का ‘ग्रेट पिरमिड’ 450 फुट ऊँचा है। 4300 सालों तक यह दुनिया की सबसे ऊँची संरचना रहा, पर 19वी सदी में इसका यह रिकार्ड टुट गया।”

“क्या आप जानते हैं इन पिरामिडो को बनाने की तकनीक के बारे में अब तक कुछ भी पता नही चला है। वैज्ञानिक कई सालों से इस बात को जाने में लगे है लेकिन कोई सफलता नही मिली।”

Leave a Reply

Your email address will not be published.