मेथीदाना को भिगोकर खाने के क्या लाभ होते हैं?

मेथी का हमारे खाने में सब्जी से लेकर पराठे तक में काफी इस्तेमाल होता हैं। भारतीय चिकित्सा शास्त्र आयुर्वेद में सदियों से इसके पत्ते और दानों का औषधि के रूप में प्रयोग होता आ रहा है।

मेथी में कई तरह के गुण और पोषक तत्व जैसे कैरोटीन, कॉपर, जिंक, सोडियम, फोलिक एसिड और मैग्नीशियम आदि पाए जाते हैं।

आयुर्वेद में मेथी के दानों को गर्म गुणों का बताया गया है। इसलिए उसकी गर्माहट कम करने के लिए मेथी के दानों को कुछ समय के लिए पानी में भिगोकर रखना चाहिए। और इसके बाद मेथी के दानों को प्रयोग में लाना चाहिए। रात में किसी साफ बर्तन में छोटा आधा चम्मच साफ मेथी दाना लेकर आधे कप पानी में भिगो दें। सुबह इस पानी को पी जाएं और भीगे हुए मेथी दाने को चबा-चबाकर खा लें।

फायदे

१. शुगर नियंत्रणमेथी में मौजूद गेलेक्टोमैनन नामक फाइबर, खून में शुगर के अवशोषण को कम करता है। इससे ब्लड शुगर नियंत्रित रहती है।

२. वजन घटानामेथी में फाइबर की मात्रा ज्यादा होती है | इसलिए इसे पीने के बाद देर तक भूख नहीं लगती है | मेथी शरीर के मेटाबोलिज्म याने चयापचय को बढ़ाती है | इनके परिणाम स्वरूप वजन घटने लगता हैं।

३. कब्ज से राहतमेथी में स्थित फाइबर कब्ज की समस्या से राहत दिलाने में मदद करते हैं।

४. पाचनतंत्र में सुधारमेथी के दाने पाचनतंत्र को सुधारते है और अपच, गैस या एसिडिटी से आराम दिलाते है |

५. कमर दर्द में आराममेथी में फ्लैवोनॉइड तत्त्व होते है जो इन्फ्लमैशन को काम करके कमर दर्द, जोड़ों के दर्द में राहत देते है

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *