मोटी को मिला पति कहानी पढे

एक बार भारी भरकम मोटी लड़की भगवान शिव के मंदिर में जाती है। वह अपने दोनों हाथों को फैलाकर कहती है। – ” हे भगवान पति दे दो।”

उसके कहते ही तुरंत पंडित जी बोले। – “अब इतना बड़ा पति कहाँ से आयेगा ? मंदिर की छत फोड़ेगी क्या ? हाथों को कम फैलाकर मांगो।

मोटी लड़की कहती है। – ” पंडित जी मैंने अपनी आवश्यकता अनुसार ही माँगा है। मेरा पापा कहते हैं। भगवान जब भी देता है छप्पर फाड़कर देता है।

“हाँ समझ गया आज से 25 साल पहले तुम्हारे माता-पिता आये थे। और ऐसे ही हाथ फैलाकर माँगा थापंडित जी ने हाथ फैलाकर – “और तुमको दे दिया।”

“तो कोई और तरीका नहीं है पंडित जी ?” – मोटी लड़की ने मासूमियत से पूछा।

“तरीका है पुत्री” पंडित जी ने कहा। – “शीतल कुंड में जाओ, प्रेम से डुबकी लगाओ, और फिर जोर से चिल्लाओ, भगवान सबकी सुनता है। पति ही नहीं, परिवार मिलेगा। और यदि डुबकी ढंग से लगा ली तो नया संसार मिलेगा।

तो खूबसूरत शारीरिक सौष्ठव की धनी वह युवती। झूमती-झूमती सीढ़ियों से कुंड में नीचे उतरने लगती है। कि अचानक फिसल गयी और बेचारी दो कमजोर सीढियाँ टूट गयी। लो देखो युवती पानी में डूब गयी।।”

अब वह डूबती हुई चिल्लाई। – “बचाओ —— बचाओ।” लेकिन मुंह में बार – बार पानी जाने से आवाज निकली। – “बच्चा आओ—- बच्चा आओ।” वहां मंदिर में एक बच्चा जो अपनी माँ को ढूंढ रहा था। जैसे ही सुना तो तुरंत पानी में कूद गया।
अब मोटी के मुंह से निकलने लगा। – “आओ —- आओ।” इसी दौरान मंदिर में आये एक मोटे युवा ने युवती की आवाज सुनी। तो देखा “वाव बिल्कुल मेरे समान सेहतमंद युवती।” सोचना क्या जाओ।

अंत में पंडित जी। – “देखो पुत्री मैंने कहा था ना, पति ही क्या परिवार भी मिलेगा। थोड़ी देर की बात और है नया संसार भी मिलेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.