मोबाइल फोन की डिस्प्ले के लिए दिया जाने वाला 18:9 क्या होता है ? जानिए

पहली बात तो यह की मोबाइल के डिस्प्ले में 18 : 9 नहीं बल्कि 18 : 5.9 इस्तेमाल होता है

मोबाइल फ़ोन्स का स्क्रीन आज की तारिख में सबसे अहम् हिस्सा है. मोबाइल फ़ोन के स्क्रीन को २ तरीके से बताया जाता है- पहला तो है उसका आकर जैसे की ६ इंच, जोकि मोबाइल के स्क्रीन के एक कोने से दूसरे कोने की कर्ण की लम्बाई होता है.

कर्ण की लम्बाई के बाद दूसरी सबसे जरूरी चीज़ मोबाइल फ़ोन स्क्रीन का आस्पेक्ट ratio होती है। जोकि मोबाइल स्क्रीन की लम्बाई और चौड़ाई के बीच का अनुपात होता है.

अब मोबाइल स्क्रीन की साइज इंच में और आस्पेक्ट ratio को मिला दिए जाए तो सीधे ही स्क्रीन के लम्बाई और चौड़ाई का अंदाजा लगाया जा सकता है.

लकिन अब प्रश्न यह है की ये आस्पेक्ट ratio इतना जरूरी क्यों है. इसके लिए आपको जाना होगा २०१७ में क्यूंकि उससे पहले लगभग सभी मोबाइल फ़ोन एक मानक का आस्पेक्ट ratio इस्तेमाल करते थे. लेकिन जब बात है और बड़ा स्क्रीन देने की जोकि आपकी जेब में भी समा जाए कोम्पनिओ ने नए प्रयोग शुरू किए। जिनमे सबसे पहली थी सैमसंग जिसने गैलेक्सी S 8 में इंफिनिटी स्क्रीन दिआ और उसके बाद होड़ सी लग गयी.

ज्यादा लम्बे फ़ोन एक तो जेब में अच्छे से एक बड़ा स्क्रीन रखने में मदद करते हैं साथ ही वीडियो देखने के अनुभव को भी अद्वितीय बनाते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.