यहाँ पर इंसान नहीं बल्कि कुत्ते-बिल्ली करते हैं ‘ रक्तदान’

मनुष्य के द्वारा रक्तदान करने के बाद तो हम सुनते ही हैं, रक्तदान को जीवनदान के समान माना जाता है। रक्त को दान करके कोई भी व्यक्ति एक नया जीवन प्रदान कर सकता है। लेकिन दुनिया के कई देश ऐसे भी हैं, जहां पर जानवरों के ब्लड बैंक स्थापित है। जानवरों को भी कई बार रक्त की आवश्यकता पड़ जाती है। इसी कारण इंसानों की तरह कई देशों में जानवरों की बहुतायत के कारण उनके ब्लड बैंक स्थापित किए गए हैं।

दुनिया के कई देशों में कुत्ते बिल्लियों के लिए भी रक्तदान शिविर केंद्र आयोजित किए जाते हैं। कुत्ते और बिल्ली मानव के सबसे करीबी जानवर होते हैं। अधिकतर लोग कुत्ते और बिल्लियों को पालना पसंद करते हैं। कई बार कुत्ते बिल्लियों को चोट भी लग जाती है और वह घायल भी हो जाते हैं। इस समय उन्हें रक्त की आवश्यकता पड़ती है। रक्तदान के द्वारा जीव-जंतुओं को भी एक नया जीवन प्रदान किया जा सकता है। इसी कारण कई बार दंपत्ति अपने स्वस्थ और ताकतवर ते कुत्ते-बिल्लियों का भी रक्तदान कर देते हैं।

दुनिया के कई देशों में, जैसे स्टॉकब्रिज, गार्डनग्रोव, वर्जिनियां, डिक्स, ब्रिस्टल आदि देशों में पशुओं के ब्लड बैंक स्थापित किए गए हैं। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि कुत्तों और बिल्लियों में भी रक्त के कई प्रकार के समूह पाए जाते हैं। मनुष्यों की तरह ही कुत्तों और बिल्लियों में रक्त समूहों में अलग-अलग होता है। कुत्तों में 12 प्रकार के रक्त समूह और बिल्लियों में तीन प्रकार के रक्त समूह उपस्थित होते हैं।

इसी कारण कई बार दंपत्ति कुत्ते और बिल्लियों का रक्तदान कर देते हैं ताकि दूसरे जानवरों की जिंदगियों को बचाया जा सके। कुत्ते और बिल्लियों का रक्तदान करना कोई अधिक कठिन कार्य नहीं होता है।इस तरह से जानवरों के ब्लड बैंक स्थापित करना भी एक आवश्यक कार्य है। इस कार्य के द्वारा कई जानवरों की जिंदगियों को बचाया जा सकता है।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *