यहां भाई बहन ही बन जाते है पति-पत्नी, क्‍योंकि ये है बड़ी वजह जिसे जानकर आप होगए हैरान

हमारे देश में सभी से पवित्र रिलेशन भाई और बहन का माना जाता है किन्तु इंडिया में एक ऐसा भी स्टेट है जहां पर भाई एवं बहन आपस में ही विवाह शादी करते हैं। छत्तीसगढ़ में सबसे अधिक आदि वासी प्रजाति कम्युनिटी है और इसी कारन के वजह पर यहां की परम्परायें भी कुछ भिन्न हैं।

हमारे राष्ट्र में बहुत सी कु जातियों में ऐसी विचित्र और अनोखी परम्परा है, जिसके बिसय में लोगों को नहीं पता है। ऐसी ही एक परम्परा छत्तीसगढ़ के पूरे आदिवासी सोसाइटी में भी है, जहां सभी भाई और बहन आपस में ही शादी कर लेते हैं। हमारे देश में सभी से पवित्र रिलेशन भाई और बहन का माना जाता है किन्तु इंडिया में एक ऐसा भी स्टेट है जहां पर भाई एवं बहन आपस में ही विवाह शादी करते हैं।

छत्तीसगढ़ में सबसे अधिक आदि वासी प्रजाति कम्युनिटी है और इसी कारन के वजह पर यहां की परम्परायें भी कुछ भिन्न हैं। हमारे राष्ट्र में बहुत सी कु जातियों में ऐसी विचित्र और अनोखी परम्परा है, जिसके बिसय में लोगों को नहीं पता है। ऐसी ही एक परम्परा छत्तीसगढ़ के पूरे आदिवासी सोसाइटी में भी है, जहां सभी भाई और बहन आपस में ही शादी कर लेते हैं।

छत्तीसगढ़ में एक भास्तर की कांगड़ घाटी के नजदीक बसे हुए धुरवा जाट वाले लोग बेटे और बेटियों की विवाह में आग को नहीं अपितु जल को गवाह मानते हैं। इस समाज में बिलकुल भिन्न प्रथा चल रही है कि जब भी इनके घर बहन की पुत्री से उसके मामा के बेटे का विवाह होती है।

इसी के साथ साथ अगर कोई ऐसा करने से इनकार करता है तो उस पे कड़ा जुर्माना भी लगा दिया जाता है इतना ही नहीं बल्की यहां पे बाल विवाह का भी रिवाज है, लेकिन बाल विवाह का रिवाज धीरे धीरे अब कुछ ख़त्म होता दिख रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.