यह 4 आदतें आपके आंतो को सबसे ज्यादा नुकसान पहुंचाती है

हमारा आंत हमारे शरीर से गंदगी निकालने में हमारी मदद करता है। इस को स्वस्थ रखना उतना ही जरूरी है जितना आप अपने बाल चेहरे को खूबसूरत रखने के बारे में सोचते हैं। कई शोधों से यह पता चला है कि मानव शरीर में लगभग 38 ट्रिलियन जीवाणु कोशिकाएँ होते हैं, जिनमें से अधिकांश बैक्टीरिया आंत मैं पाए जाते हैं। इन बैक्टीरिया को गुड बैक्टीरिया के नाम से भी जाना जाता है। यानी यह बैक्टीरिया हमारे शरीर के स्वास्थ्य के लिए अच्छे होते हैं। यह बैक्टीरिया भोजन से पोषक तत्वों को निकालने के साथ-साथ आंतों के संक्रमण से बचाता है, और यहां तक ​​कि कैंसर, गठिया और हृदय की समस्याओं जैसे रोगों से भी हमारी रक्षा करता है। हालांकि गुड बैक्टीरिया को अपने आंतो में बनाए रखने के लिए हमें अच्छे खान-पान और अच्छे रहन-सहन का पालन करना पड़ता है। अगर हमने नीचे दिए गए इस चार बिंदुओं पर ध्यान नहीं रखा तो इससे पेट की गड़बड़ी जैसे गैस, सूजन, कब्ज, दस्त हो सकती है। यहां तक कि हम आंत की समस्या से भी ग्रसित हो सकते हैं। तो चलिए देखते हैं वह 4 चीजें क्या है जो आपको भूल कर भी नहीं करनी चाहिए।

यह चार प्रमुख कारण हैं जो आपके पेट के स्वास्थ्य को सबसे अधिक नुकसान पहुँचाते हैं।

  1. तला हुआ और मार्केट का खाना

आपको पता होना चाहिए कि मार्केट में बने हुए तले भुने हुए खाने को खाने से हमें कई प्रकार की समस्या से जूझना पड़ सकता है। हमारे स्वास्थ्य के लिए बिल्कुल भी अच्छे नहीं होते हैं। वे आंत में ‘अच्छे’ बैक्टीरिया के विकास को रोक सकते हैं, जिससे आपके शरीर को पोषक तत्व मिलने में परेशानी होगी। पोषक तत्वों की कमी से आप कई प्रकार के गंभीर समस्याओं से ग्रसित हो सकते हैं।

  1. अनावश्यक एंटीबायोटिक का सेवन ना करें

यह लोगों द्वारा की जाने वाली आम गलतियों में से एक है। जबकि एंटीबायोटिक्स का इस्तेमाल हम बहुत ही ज्यादा जरूरत पड़ने पर कर सकते है लेकिन इसका छोटे-छोटे समस्याओं पर इस्तेमाल करने से हमारे आंतो को बहुत ही ज्यादा नुकसान पहुंच सकता है। एंटीबायोटिक का ज्यादा इस्तेमाल करने से हमारे आंतो में मौजूद अच्छे बैक्टीरिया भी मरने लगते हैं जो हमारे आंत स्वास्थ्य के लिए अच्छी नहीं है।

  1. पर्याप्त नींद नहीं लेना

दोस्तों अच्छी नींद का मतलब अच्छा स्वास्थ्य होता है। एक इंसान को कम से कम 7 से 8 घंटे की नींद तो जरूर लेनी चाहिए। कई शोधों में यह साबित हो चुका है कि सिर्फ दो दिनों की नींद की कमी वजन बढ़ाने, मोटापे, टाइप 2 मधुमेह और खराब वसा चयापचय से जुड़े बैक्टीरिया में वृद्धि का कारण बन सकती है।

  1. ज्यादा धूम्रपान करना

दोस्तों वैसे धूम्रपान और शराब तो सेहत के लिए हमेशा से हानिकारक रहे हैं। लेकिन कुछ लोग होते हैं जो गंदी आदतों को नहीं छोड़ पाते हैं। अधिक धूम्रपान और शराब के सेवन से हमारे स्वास्थ्य पर गहरा और हानिकारक असर पड़ता है। इसका सबसे ज्यादा असर हमारी आंतों पर पड़ता है। इसके ज्यादा उपयोग से हमारे आंत में गुड बैक्टीरिया का संतुलन बिगड़ जाता है, जिससे हमें भविष्य में कई सारी स्वास्थ्य संबंधित समस्याएं होने का खतरा बढ़ जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.