ये हैं श्रीकृष्ण की 8 पटरानियां, ऐसे हुई थी इनकी शादी

  1. पहली पत्नी थीं रुक्मणी। भगवान श्री कृष्ण के पहले पत्नी का नाम रुक्मणी का और उनका विवाह भगवान श्री कृष्ण ने उन्हें भगा कर किया था क्योंकि उनके घर वाले भगवान श्रीकृष्ण से रुक्मणी का विवाह करने के लिए राजी नहीं थे जिसके कारण भगवान श्री कृष्ण को उनके भाई से युद्ध करना पड़ा था तब जाकर उन्होंने रुक्मणी से विवाह किया था कि कोई और नहीं बल्कि लक्ष्मी मां की अवतार थी।
  2. जामवंती। जब भगवान श्री कृष्ण के ऊपर एक मणि चोरी करने का आरोप लगा तो भगवान श्री कृष्ण ने उस मणि को खोजने के लिए जब एक गुफा में प्रवेश किया तो उनको मालूम चला कि यह मणि जामवंत नामक बांदर के पास है जिसके कारण से उन्हें युद्ध करना पड़ा था जब जामवंत को इस बात का अहसास हुआ कि भगवान श्रीकृष्ण और कोई नहीं बल्कि राम के अवतार हैं तो उन्होंने उनसे माफी मांगी और उन्हें उस मणि को वापस कर दिया था इसके अलावा उन्होंने अपनी पुत्री जामवंती का विवाह श्री कृष्ण के साथ कर दिया था।

3.तीसरी पत्नी थीं सत्यभामा। जब श्री कृष्ण ने मणि को वापस से लिया तो उन्होंने इस मणि को उस व्यक्ति को वापस कर दिया जिन्होंने श्री कृष्ण के ऊपर यह आरोप लगाया था कि उन्होंने इस मणि की चोरी की है उस व्यक्ति का नाम सत्राजित उन्होंने अपने इस अपराध के लिए श्रीकृष्ण से क्षमा मांगी और साथ में उन्होंने अपनी पुत्री सत्यभामा का विवाह श्री कृष्ण के साथ कर दिया था।

4.चौथी पत्नी थीं कालिन्दी। श्री कृष्ण ने चौथा विवाह कालिन्दी नामक राजकुमारी के साथ किया था इस राजकुमारी ने भगवान श्रीकृष्ण को पानी के लिए घोर तपस्या की थी तब जाकर भगवान श्री कृष्ण ने उन्हें पत्नी के रूप में स्वीकार किया था या राजकुमारी और कोई नहीं बल्कि भगवान सूर्य देव की पुत्री थी।

5.पांचवी पत्नी थीं नग्नजिति। भगवान श्री कृष्ण ने पांचवा विवाह नग्न जिति नामक राजकुमारी के साथ किया था। इस राजकुमारी को भगवान श्री कृष्ण ने स्वयंवर में जीतकर पत्नी के रूप में स्वीकार किया था।

6.छठी पत्नी थीं मित्रवृंदा। श्री कृष्ण छठवां विवाह मित्रवृंदा नामक राजकुमारी के साथ किया था जो उज्जैन के राजा विंद की बहन थे भगवान श्रीकृष्ण ने किस राजकुमारी को स्वयंवर में जीता था जहां राजकुमारी ने भगवान श्री कृष्ण को पति के रूप में स्वीकार किया था। लेकिन उनके भाइयों ने इस स्वयंवर को ना मानते हुए अपनी बहन को श्रीकृष्ण को ले जाने से रोका था जिसके कारण युद्ध करना पड़ा था।

7.सातवीं पत्नी थीं रोहिणी। भगवान श्री कृष्ण ने सातवां विवाह रोहिणी नामक राजकुमारी के साथ किया था इसने स्वयंवर में खुद भगवान श्री कृष्ण को पति के रूप में स्वीकार किया था।

8.भगवान कृष्ण की आठवीं पत्नी लक्ष्मणा थीं। वह कैकेय देश की राजकुमारी थीं। इन्होंने स्वयं अपने स्वयंवर के दौरान भगवान श्रीकृष्ण के गले में वरमाला पहनाकर उन्हें अपना पति चुना था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.