ये है बिना नाम वाला देश का इकलौता रेलवे स्टेशन, इसके पीछे है हैरान कर देने वाली वजह

भारतीय रेलवे की पहचान पूरे विश्व में हैं । यह एशिया का दूसरा सबसे बड़ा रेल नेटवर्क है । हमारे देश में लगभग 8 हजार से ज्यादा रेलवे स्टेशन है । कुछ रेलवे स्टेशन के नाम तो इतने मजेदार होते हैं कि उसे सुनकर हंसी आती है । ऐसे कई स्टेशन है , जो किसी न किसी कारण से चर्चा में रहते हैं । एकल सरकारी स्वामित्व के मामले में भारतीय रेल चौथा स्थान रखता है लेकिन क्या आप जानते है भारत में एक ऐसा भी रेलवे स्टेशन है , जिसका कोई नाम ही नहीं है । इस स्टेशन को बिना नाम वाला स्टेशन कहा जाता है ।

दरअसल बिना नाम का रेलवे स्टेशन पश्चिम बंगाल के आद्रा रेलवे डिवीजन में पड़ता है । बांकुरा-मैसाग्राम रेल लाइन पर स्थित यह स्टेशन दो गांवों रैना और रैनागढ़ के बीच में पड़ता है । हालांकि शुरुआती दिनों में रैनागढ़ के नाम से जाना जाता था लेकिन रैना गांव के लोगों ने इसका विरोध किया और उन्होंने मांग की स्टेशन का नाम उनके गांव के नाम पर पड़े । फिर नाम को लेकर दोनों गांव के लोगों में झगड़ा शुरू हो गया । यह मामला अब मामला जब रेलवे बोर्ड के पास पहुंचा और इस झगड़े को सुलझाने के लिए रेलवे बोर्ड ने स्टेशन के साइनबोर्ड से स्टेशन का नाम ही हटा दिया । जिस कारण बाहर से आने वाले यात्रियों का काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है । नाम न होने के कारण यात्रियों को दूसरे लोगों से स्टेशन के बारे में पता करना पड़ता है । हालांकि रेलवे अभी भी टिकट पर स्टेशन का पूराना नाम रैनागढ़ ही इस्तेमाल करता है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.