ये है सिर्फ 27 नागरिको वाले एक देश,जानिए क्यों

दुनिया में हमेशा शक्तिशाली या सबसे अधिक आबादी वाले देशों के बारे में चर्चा होती है, लेकिन क्या आप दुनिया के सबसे छोटे देश के बारे में जानते हैं! ‘सीलैंड की रियासत’ नाम का देश दुनिया का सबसे छोटा देश है, जिसकी जनसंख्या हमारे यहाँ के एक संयुक्त परिवार जितनी है।

साल 2002 में हुए आखिरी जनगणना के अनुसार इस देश में केवल 27 लोग हैं। जनसंख्या और विस्तार की दृष्टि से इसे माइक्रो नेशन भी कहा जाता है। इसे द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान ब्रिटेन ने समुद्री युद्ध में मदद के लिए बनाया था। इस देश की भूमि खंडहर किले पर स्थित है।

यह स्थान इंग्लैंड के सोफोकल्स तट से लगभग 10 किलोमीटर दूर है। इस सीलैंड की रियासत पर विभिन्न लोगों ने कब्जा कर लिया था । जिन मीनारों पर सीलैंड की भूमि स्थित हैं उसे रफ टॉवर कहा जाता है। रफ टावर पर फरवरी और अगस्त 1965 में जैक मूर और उनकी बेटी जेन ने कब्जा कर लिया था। सितंबर 1967 में किले पर ब्रिटिश मेजर पेडी रॉय बेट्स ने कब्जा कर लिया था।

पैडी रॉय बेट्स एक ब्रिटिश समुद्री डाकू थे जो रेडियो प्रसारण भी करते थे। उन्होंने अपनी मदद से समुद्री डाकुओं के एक विरोधी समूह को बाहर निकाल दिया था। तब बेट्स ने किसी न एक राज्य के रूप में रफ टावर की स्वतंत्रता की घोषणा की। 1975 में, बेट्स ने सफोक के लिए संविधान पेश किया, जिसमें उन्होंने राष्ट्रीय ध्वज, राष्ट्रगान, मुद्रा और पासपोर्ट जारी किया।

खबर के मुताबिक, 9 अक्टूबर 2012 को रॉय बेट्स ने खुद को सीलैंड की रियासत का राजा घोषित किया। रॉय बेट्स की मृत्यु के बाद, उनके बेटे माइकल ने अपने पिता की जगह ली। अभी तक अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर सीलैंड की रियासत को एक देश के रूप में मान्यता प्राप्त नहीं है।

लेकिन दुनिया के बाकी हिस्सों की तरह, सफोक की अपनी मुद्रा और डाक टिकट है। इसे माइक्रो नेशन भी कहा जाता है। आपको बता दे की सफोक जैसा ही एक और देश है, जहां केवल 11 लोग रहते हैं।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *