राजस्थान के ये किले भूतिया नाम से जाने जाते है आखिर शाम ढलते ही क्यों नही जाते यहाँ लोग

आज हम बात करने वाले है एक ऐसी जगह के बारे में जहाँ पर हर कोई घूमना चाहता है यह ऐसी खूबसूरत जगह है कि अगर कोई भी एक बार इस जगह घूमने चला भी जाये तो उसका दिल बार बार इस जगह को ही देखने को करेगा यह जगह जितनी खूबसूरत है उससे कहीं ज्यादा खतरनाक भी है अब हम बात करने वाले है उन जगहों के बारे में जहाँ पर दिन में तो सब आते है पर शाम होते ही कोई भी दिखाई नही देता है ।

नम्बर 1 : भानगढ़ का किला अलवर .

यह किला अलवर की राजकुमारी रत्नावती के लिए बनाया गया था इस किले को 17वीं शताब्दी में बनाया गया था । जब इस किले के अंदर राजकुमारी आयी तो उनपर एक तांत्रिक की नजर पड़ गयी और वह तांत्रिक राजकुमारी के पीछे पड़ गया था तांत्रिक हर हाल में राजकुमारी को पाना चाहता था पर एक दिन यह बात राजकुमारी को पता लग गयी और उन्होंने उस तांत्रिक को मरवा दिया उसके बाद से ही उस तांत्रिक की आत्मा आज भी इस किले के अंदर घूमती है ।

नम्बर 2 : नाहरगढ़ किला जयपुर .

इस किले को सवाई मन सिंह नाम के राजा ने बनवाया था यह उस वक़्त की बात है जब राजा अपने किले को बनवा रहे थे तब उनके मन मे विचार आया था कि इस किले की दीवारें ऊंची हो और राजा इस किले की दीवारें इतनी ऊँची कराना चाहता था कि जिससे कि उसकी रानीयो को कोई भी ना देख सके आज भी शाम को इस किले के अंदर कोई नही ठहरता है बताया जाता है कि इस किले के अंदर शाम को अजीब अजीब तरह की आवाज़ें आती हैं ।

नम्बर 3 : मेहरानगढ़ जोधपुर .

इस किले को 1459 में राव जोधा ने बनवाया था इस किले को देखने के लिए काफी सारे लोग जाते है पर जो भी शाम को इस किले के अंदर रुक जाता है तो उसका बचना बहुत कठिन हो जाता है बताया जाता है कि राव जोधा ने इस किले के अंदर एक लड़के को जिंदा जलवा दिया था तब से ही इस किले के अंदर आवाज़े आना शुरू हो गयी थी और आज भी इसके अंदर आवाज़े ही आती है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Ads by Eonads
Translate »