राजस्थान में गोरम घाट घूमने के लिए कैसी जगह है? जानिए

गोरम घाट राजस्थान के मावली जंक्सन और मारवाड़ जंक्सन के बीच चलने वाली मीटर गेज रेल लाइन पर स्थित एक छोटा सा रेलवे स्टेसन है. यह जगह राजसमन्द जिले में है किन्तु यह पाली – मारवाड़ जिले की सीमा के बहुत ही निकट है. यह स्थान अरावली पर्वत श्रृंखला में पहाड़ी क्षेत्र और घने बनों के बीच स्थित है.

जब आप अजमेर से ब्यावर, राजसमन्द, नाथद्वारा होकर उदयपुर जाने वाले राज मार्ग से गुजरते हैं तो बीच में देवगढ़ आता है जो राज मार्ग से कुछ दूरी पर स्थित है. उसके पास राज मार्ग पर कामलीघाट चौराहा है. वहां से एक रास्ता देवगढ़ को और दूसरा रास्ता अरावली पर्वतीय क्षेत्र से होकर जोजावर, फुलाद, मारवाड़ जंक्सन, पाली, जोधपुर आदि की ओर जाता है. यहीं कामलीघाट में एक मीटर गेज रेल लाइन का रेलवे स्टेसन भी है.

मैं कभी इस रेल में तो नहीं बैठा हूँ, किन्तु भीलवाड़ा से मांडल, देवगढ, कामलीघाट, मारवाड़ जंक्सन, पाली होकर निजी कार से जोधपुर अवश्य गया हूँ.

यह मीटर गेज लाइन लम्बे समय तक उदयपुर को जोधपुर से जोडती थी, किन्तु अब अधिकतर रेल लाइनें ब्रॉड गेज में बदल गयी हैं और अब मावली जंक्सन से मारवाड़ जंक्सन के बीच ही मीटर गेज लाइन बाक़ी रह गयी है. शीघ्र ही इसे भी ब्रॉड गेज में बदलने के लिये काम शुरू होने वाला है.

मीटर गेज लाइन मावली जंक्सन से मन्दियाना (नाथद्वारा), कांकरोली (राजसमन्द), कुंवारिया, आमेट, कुवांथल, मदरिया (देवगढ) और कामलीघाट होकर गोरम घाट पहुंचती है. गोरम घाट से यह लाइन फुलाद और रणवास होकर मारवाड़ जंक्सन तक जाती है.

कामलीघाट, गोरम घाट और फुलाद स्टेसन अरावली पर्वत श्रृंखला के बीच में स्थित हैं. यहाँ पहाड़ी उतार चढ़ाव के साथ घने बन भी हैं. यहाँ रेल लाइन पर दो रेल गुफायें / टनल / सुरंग मार्ग भी हैं.

खबर है कि शीघ्र ही इस मीटर गेज लाइन पर भी पर रेलगाड़ियाँ चलना बन्द हो जायेगी. यह भी खबर है कि इस घाट सेक्सन में ब्रॉड गेज लाइन पुरानी मीटर गेज लाइन से अलग होगी. रेलवे विभाग की यह भी एक सोच है कि घाट सेक्सन में मीटर गेज लाइन को सुरक्षित रख लिया जायेगा और उचित समय पर यहाँ सैलानियों के लिये हेरिटेज रेल सेवा चलायी जा सकती है.

बताते हैं कि यह लाइन 1925 से 1936 के बीच बनकर तैयार हुयी थी. मावली से आगे एक तरफ की लाइन उदयपुर को अहमदाबाद से जोडती थी, और दूसरी ओर मारवाड़ जंक्सन से यह लाइन पाली मारवाड़ होकर जोधपुर और उससे आगे बाड़मेर जिले के मुनाबाओ में पाकिस्तान सीमा तक भी जाती थी.

मारवाड़ जंक्सन, पाली मारवाड़, जोधपुर और आगे मुनाबाओ तक की लाइन ब्रॉड गेज हो चुकी है, और वर्तमान में अहमदाबाद से उदयपुर तक मीटर गेज लाइन को ब्रॉड गेज में बदलने का काम चल रहा है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.