रिलायंस द्वारा खरीदा जा सकता है टिकटॉक का भारतीय कारोबार, बाइटडांस ने की बातचीत शुरू

यूजर्स के लिहाज से दूसरा सबसे बड़ा बाजार रहे भारत में दोबारा
आने के लिए टिकटॉक बेकरार है। टिकटॉक की पैरेंट कंपनी
बाइटडांस इसके भारतीय कारोबार को बेचने की योजना बना रही है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, बाइटडांस शॉर्ट वीडियो ऐप टिकटॉक
का भारतीय कारोबारी मुकेश अंबानी के स्वामित्व वाली रिलायंस
इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआईएल) को बेच सकती है। इस संबंध में
दोनों कंपनियों के बीच जुलाई के आखिर में बातचीत शुरू हुई थी।
हालांकि, दोनों कंपनियां अभी किसी भी सौदे पर नहीं पहुंची हैं।

इस
पर रिलायंस, बाइटडांस और टिकटॉक ने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है।
भारत ने टिकटॉक समेत चीन 106 ऐप पर बैन लगाया है। लद्दाख
की गलवान घाटी में सीमा विवाद के बाद भारत सरकार ने चीन की
कंपनियों के 59 ऐप पर बैन लगा दिया था।

इसमें टिकटॉक, वीचैट,
अलीबाबा ग्रुप का यूसी ब्राउजर और यूसी न्यूज जैसे पॉपुलर ऐप
शामिल थे। इसके बाद सरकार ने पिछले महीने जुलाई में भी चीन के
47 ऐप पर बैन लगाया था। इसमें अधिकांश पहले बैन किए गए ऐप
के क्लोन थे।

इस प्रकार भारत सरकार अब तक चीन के 106 ऐप पर
बैन लगा चुकी है। टिकटॉक के भारतीय कारोबार की वैल्यू 3 बिलियन
डॉलर के करीब आंकी गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.