लंदन की नौकरी छोड़ शुरू कर दी खेती, सालाना 60 लाख रुपये की हो रही कमाई

31 वर्षीय नेहा एक बिजनेस फैमिली से ताल्लुक रखती हैं। नेहा कहती हैं कि, ‘मैंने बहुत पहले ही तय कर लिया था कि मुझे बिजनेस करना है लेकिन, सिर्फ पैसे कमाने के लिए नहीं, बल्कि उसका सोशल बेनिफिट और सोशल इम्पैक्ट भी हो। उससे लोगों को भी फायदा हो। हालांकि, तब खेती के बार में नहीं सोचा था।’खेती कर नेहा सालाना 60 लाख रुपये की कमाई भी कर रही हैं।

इसके साथ ही कई किसानों को ऑर्गेनिक फार्मिंग की ट्रेनिंग देकर उनका जीवन भी संवार रही हैं।आगरा की रहने वाली नेहा भाटिया साल 2014 में लंदन स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स से मास्टर्स किया। पढ़ाई पूरी होते ही नेहा ने सालभर लंदन में ही नौकरी की और उसके बाद अपने देश वापस आ गईं। साल 2017 में उन्होंने ऑर्गेनिक फार्मिंग शुरू की और आज वो तीन जगहों पर खेती कर रही हैं।

दिल्ली विश्वविद्यालय से ग्रेजुएशन करने के बाद नेहा एक सोशल ऑर्गनाइजेशन से जुड़ गई। उन्होंने राजस्थान, हरियाणा, मध्यप्रदेश सहित कई राज्यों में शिक्षा, स्वास्थ्य जैसी समस्याओं पर काम किया। इसके बाद वो साल 2012 में लंदन चली गईं।

नेहा कई गांवों में गईं और लोगों से मिलकर उनकी परेशानियों को समझा। नेहा कहती हैं कि लोगों की दिक्कतों से पता चला कि सबसे बड़ी समस्या हेल्दी फूड्स की है। केवल शहर ही नहीं बल्कि गांव के लोगों को भी सही खाना नहीं मिल रहा है। ऐसे में नेहा ने साल 2016 में क्लीन ईटिंग मूवमेंट लॉन्च करने का प्लान किया, ताकि लोगों को सही और शुद्ध खाना मिल सके। इसको लेकर रिसर्च करना शुरू किया, कई एक्सपर्ट्स से मिली। सभी लोगों ने यही कहा कि अगर सही खाना चाहिए, तो सही उगाना भी पड़ेगा। अगर अनाज और सब्जियां ही केमिकल और यूरिया वाली होंगी, तो उनसे बना खाना ठीक नहीं हो सकता है.

इसके बाद वो साल 2012 में लंदन चली गईं। जब वो साल 2015 में लंदन से वापस लौटी तो फिर से एक सोशल ऑर्गनाइजेशन के साथ जुड़ गई और करीब दो साल तक काम किया।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *