लोग प्यार में अक्सर असफल क्यो होते है जाने

आज कल लोग प्यार तो कर लेते है और अक्सर फेल हो जाते है और अक्सर इसका जीमवर दूसरों को ठहराते हैं ।लेकिन लोग प्यार में फेल होते है तो उसका जिमवर वो खुद ही होते है । आज हम इसी विषय पर बात करेंगे कि क्यो लोग प्यार में अक्सर फैल हो जाते है। सबसे पहले हम आपको बता दें कि लोग प्यार जो लेकर काफ़ी कंफ्यूज होते है आज किसी दूसरे लड़की से प्यार करते है तो कल किसी तीसरी लड़की से प्यार करने लगते है परसो किसी चौथी लड़की से प्यार करने लगते है जिससे पूरी तरह से कंफ्यूज हो जाते हैं ।

कंफ्यूज से सबसे बड़ा नुकसान ये है कि हम पूरी तरह से ध्यान दे नहीं पाते है जिससे पूरी तरह से अपना एफर्ट नहीं लगा पाते है और हम फेल हो जाते हैं । कोई काम को पूरा करने के लिए फुल एफर्ट कि जरूरत होती है और ये कन्फुशन जो है फुल एफर्ट नहीं लगाने नहीं देता हैं जिससे होता ये है कि हम लास्ट में ये पाते है कि सारे लड़कियां हाथ से निकाल गई है और हम प्यार में फेल हो जाते है ।

दूसरा कारण जो है प्यार में फेल होने का वह ये है कि हम जिस लड़की से प्यार करते है उससे तो कुछ बोल नहीं पाते लेकिन जब कोई लड़की सामने से आकर प्यार का इजहार करती है तो भी हम एक्सेप्ट नहीं करते है जिससे वो भी लड़की हाथ से निकाल जाती है वो लड़की बार बार आपसे रिक्वेस्ट करती है आपसे बात करने की कोशिश करती है लेकिन आप तो किसी दूसरे के प्यार ने पागल है जिससे वो लड़की चली जाती है बाद में एहसास होता है कि हमें उससे प्यार को अपनालेना चाहिए था और आप बाद ने पछताते है की झूठ मुठ का उसके प्यार को ठुकरा दिया और वैसी लड़की इतना आसानी से मिलने वाली नहीं है ऐसा ही अक्सर होता है ।

तो दोस्तो प्यार में सफल होना है तो सामने से परपोज आए तो सोच समझकर कर है इनकार करे । प्यार में असफल होने से बचना है तो जो आ रहा है उसे आने दो और हो जा रहा है उसे जाने दो ।क्योंकि जो जा रहा है उसे रोकने का कोशिश करोगे तो सिर्फ टाइम पास होगा ।टाइम भी बर्बाद होगा और कुछ हासिल भी नहीं होगा। तो तुमसे प्यार करे उसे अपनाए इससे समय का भी बचत होगा और प्यार भी बहुत ही आसानी से मिल जाएगा। प्यार बहुत ही खतरनाक है इसमें टाइम बहुत ही ज्यादा बर्बाद होता है इसलिए सोच समझकर ही कदम रखे क्योंकि ये प्रकार का दलदल है एकबार फंस गए तो निकालना बहुत ही मुश्किल होता है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.