वनडे क्रिकेट में इन तीन बल्लेबाजों के नाम सबसे तेज शतक का रिकॉर्ड है नंबर 1 से ताबड़तोड़ बल्लेबाज

जैसा की आप सभी को पता है की शाहिद अफरीदी का रिकॉर्ड काफी लम्बे समय तब बना रहा थाटी क्रिकेट के आने के कारण एकदिवसीय मैचों में स्ट्राइक रेट एक स्तर तक बढ़ गया है जो कि बहुत विश्वसनीय है। कई बार ऐसा हुआ है जब एक रन और बॉल को एक अच्छी पारी माना गया। अब बल्लेबाज कम स्ट्राइक रेट से रन बनाए, तो दर्शकों को भी यह बात हजम नहीं होती। दर्शक भी यही देखना पसंद करते हैं कि तूफानी खेल और चौके-छक्कों की बरसात हो।

छोटी बाउंड्री और बड़ी बाउंड्री दोनों ही स्थिति में अब बल्लेबाज तगड़े शॉट जड़ते हुए कम समय में ही अर्धशतक और शतक लगा देते हैं।कम स्ट्राइक रेट और सिंगल-डबल की बल्लेबाजी को एकदिवसीय मैचों में बोरिंग माना जाने लगा है। हालांकि कुछ बल्लेबाज हर जनरेशन में ऐसे हुए हैं जिनको तूफानी खेल के लिए ही जाना जाता था। इस आर्टिकल में वर्ल्ड क्रिकेट के तीन सबसे तूफानी वनडे शतकों के बारे में जिक्र किया गया है।

1.शाहिद अफरीदी

1996 में पाकिस्तान के लिए खेलते हुए शाहिद अफरीदी ने केसीए सेंटेनरी टूर्नामेंट में 37 गेंदों पर शतक जड़ा था। उस समय यह शतक ख़ासा चर्चा में रहा था। उसके बाद से अफरीदी की अलग छवि वर्ल्ड क्रिकेट में बनी। उन्होंने 40 गेंदों पर 102 रन बनाए और 11 छक्के अपनी पारी में जड़े। इसके अलावा अफरीदी ने 6 चौके भी अपने इस तूफानी शतक में जड़े।

2.कोरी एंडरसन

अब तो यह खिलाड़ी न्यूजीलैंड के लिए नहीं खेलते हुए यूएस में खेलने गया है लेकिन वेस्टइंडीज के खिलाफ 21 ओवर के वनडे मैच में 36 गेंदों पर ही शतक जड़ दिया था। एंडरसन ने अपनी इस पारी के दौरान 14 छक्के जड़े थे। पूरी पारी में उन्होंने कुल 51 गेंदों का सामना करते हुए 131 रन बनाए। कोरी एंडरसन ने इस शतक के बाद तूफानी बल्लेबाजों की श्रेणी में खुद को शामिल कराया।

3.एबी डीविलियर्स

इस धाकड़ खिलाड़ी को मिस्टर 360 डिग्री इस वजह से ही कहा जाता है। डीविलियर्स ने वेस्टइंडीज के गेंदबाजों की धज्जियां उड़ाई थी। उन्होंने महज 31 गेंदों का सामना करने के बाद ही शतक जड़ा और कुल 44 गेंदों में 149 रन बनाए। उन्होंने कोरी एंडरसन के 36 गेंदों पर जड़े गए शतक का रिकॉर्ड भी तोड़ दिया। वर्ल्ड क्रिकेट में डीविलियर्स का यह शतक सबसे तेज शतकों के मामले में अभी पहले नम्बर पर है।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *