वर्तमान भारतीय टेस्ट टीम और धोनी की टेस्ट टीम में क्या अंतर है?

भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली व भारतीय टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की टेस्ट कप्तानी की शैली बिलकुल अलग-अलग है.

कुल मिलाकर कहा जा सकता है कि भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली व भारतीय टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में बहुत ज्यादा अंतर है और आज उन्ही अंतरों को हम आपकों अपने इस खास लेख के जरिये बताएंगे.

भारतीय टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी जहां मीडिया को बड़ी ही आसानी से हैंडल कर लेते थे.

वही भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली मीडिया को अच्छी तरह से हैंडल नहीं कर पाते है.

धोनी ने कठिन से कठिन समय पर मीडिया के सवालों के जवाब काफी कुल रहकर व मजेदार अंदाज में दिए हुए है, उन्हें कभी भी मीडिया के सामने गुस्सा करते नहीं देखा गया, लेकिन वर्तमान भारतीय कप्तान मीडिया के कठिन सवालों का जवाब नहीं दे पाते है और गुस्से में आ जाते है.

2. प्लेयिंग इलेवन में बदलाव करने का अंतर

भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली की यह भी आदत है, कि वह हर मैच में अपनी टीम की प्लेयिंग इलेवन में बदलाव करते है. विराट कोहली अपनी कप्तानी में 35 टेस्ट मैच खेल चुके है और उन्होंने अब तक हर मैच में प्लेयिंग इलेवन में बदलाव किया है, लेकिन वही दूसरी तरफ एम एस धोनी एक सेटल टीम के साथ ही उतरते थे. वह अपनी प्लेयिंग इलेवन टीम में बहुत ही कम बदलाव करते थे.

3. धोनी 4 गेंदबाजों की पॉलिसी से खेलना था पसंद तो विराट को पांच

भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली किसी भी टेस्ट मैच में पांच गेंदबाजो को प्लेयिंग इलेवन में खिलाने कीपॉलिसी में चलते है. जबकि भारतीय टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की पॉलिसी बिलकुल अगल थी. वह अपनी प्लेयिंग इलेवन में एक अतिरिक्त बल्लेबाज खिलाते थे और 4 गेंदबाजों को ही मौका देते थे.

4. धोनी रहते थे कुल तो विराट हमेशा आक्रामक

जहां एक तरफ भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली हमेशा आक्रामक रहते थे, तो वही भारतीय टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी हमेशा कुल रहते थे. चाहे कुछ भी परिस्थितियां हो उसमे धोनी हमेशा कुल रहते थे, लेकिन विराट कोहली बिलकुल इसके उलट है.

5. कोहली को तेज तो धोनी को स्पिन गेंदबाज पसंद

भारतीय टीम के वर्तमान कप्तान विराट कोहली को जहां तेज गेंदबाज पसंद है. वही भारतीय टीम के पूर्व कप्तान महेद्र सिंह धोनी को स्पिन गेंदबाज पसंद थे. धोनी हमेशा से ही अपना भरोसा स्पिन गेंदबाजो पर ही दिखाते थे. धोनी ने अपनी कप्तानी में अश्विन, जडेजा, चावला, ओझा जैसे कई स्पिन गेंदबाजो का करियर बनाया था. वही दूसरी तरफ भारतीय टीम के वर्तमान कप्तान विराट कोहली अपना ज्यादा भरोसा तेज गेंदबाजो पर दिखाते है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.