वैगन आर गाड़ी को लोग इतना क्यों देते हैं? जानिए

लॉन्चिंग के बाद से मारुति की नई वैगन आर इन दिनों टीवी से ले सोशल मीडिया पर छाई हुई है। इसकी वजह भी है क्योंकि वैगन आर का लुक पूरा बदल गया है। नई वैगन खरीदने से पहले कुछ चीजों का जानना बेहद जरूरी है। हम आपको बता रहे हैं वैगन की 10 खासियतों के बारे में..

पहली बार मारुति वैगन आर के टॉप वैरियंट में 7 इंच का इंफोटेनमेंट सिस्टम दिया गया है। वहीं लोअर वैरियंट्स में मारुति ने वैगन आर में स्मार्टप्ले डॉक दिया है। इस सिस्टम में एक फोन होल्डर दिया गया है, जहां स्मार्टफोन को रखा जा सकता है। इसके अलावा फोन में एक बिल्कुल नई तरह की एप इंस्टॉल करनी होगी, जिसके बाद यह सिस्टम स्मार्टप्ले इंफोटेनमेंट सिस्टम की तरह काम करेगा। इस एप में नेविगेशन समेत कई दूसरे फीचर भी दिए गए हैं। इस सिस्टम में फास्ट चार्जिंग यूएसबी और ऑक्स कनेक्टिविटी का भी फीचर है।

मारुति की वैगन आर पहली ऐसी कार है, जिसमें मैन्यूफैक्चरर की तरफ से 7 इंच का टचस्क्रीन रीडिजाइन स्मार्टप्ले स्टूडियो इंफोटेनमेंट सिस्टम दिया गया है। वहीं इसमें एंड्रॉय़ड ऑटो और एपल कारप्ले कनेक्टिविटी का फीचर नहीं है। हालांकि आज 28 जनवरी को ही लॉन्च हुई लेटेस्ट मारुति बलेनो फेसलिफ्ट में एंड्रॉय़ड ऑटो और एपल कारप्ले कनेक्टिविटी का फीचर दिया गया है। उम्मीद है कि मारुति वैगन आर में भी कनेक्टिविटी का यह जरूरी फीचर देगी।

नई वैगन आर में पुरानी जेनरेशन की वैगन आर से बिल्कुल अलग हेडलैंप्स दिए गए हैं। पहली बार वैगन आर में स्पिल्ट हेडलैंप का फीचर दिया गया है। हेडलैंप के ऊपरी हिस्से में मेन हेडलैंप बल्ब दिया गया है, जबकि निचले हिस्से में पार्किंग लैंप्स और इंडीकेटर्स दिए गए हैं।

पहली बार इस सेगमेंट की कार में सबसे बड़ा व्हीलबेस दिया गया है। नई वैगन आर में 2435 एमएम का व्हीलबेस दिया गया है। वहीं वैगन आर की प्रतिद्वंद्वी कारों हुंडई सैंट्रो और टाटा टियागो में छोटा व्हीलबेस दा गया है। दोनों ही कारों में 2400 एमएम का व्हीलबेस है। बड़े व्हीलबेस का फायदा यह है कि कार में ज्यादा स्पेस मिलता है।

नई वैगन आर का साइज पुरानी वैगन आर से ज्यादा है। नई वैगन आर में 341 लीटर का बूट स्पेस दिया गया है, जबकि पुरानी वैगन का बूट स्पेस 180 लीटर था। वहीं नई वैगन आर में पीछे की सीटें 60:40 में स्पिल्ट हो जाती हैं, जिससे बूट स्पेस बढ़ कर 710 लीटर तक हो जाता है।

नई वैगन आर को HEARTECT प्लेटफॉर्म पर डेवलप किया गया है। इसी प्लेटफॉर्म पर इग्निस और स्विफ्ट को भी डेवलप किया गया है। इग्निस और वैगन आर की लंबाई-चौड़ाई में ज्यादा अंतर नहीं है। वहीं दोनों का व्हीलबेस एक ही है। हालांकि इग्निस के मुकाबले वैगन आर लंबाई में 45 एमएम और चौड़ाई में 70एमएम छोटी है। वहीं इग्निस के मुकाबले वैगन आर की ऊंचाई 80 एमएम ज्यादा है।

वैगन आर की बुकिंग इस महीने शुरू हो चुकी हैं और कंपनी के मुताबिक बुकिंग का आंकड़ा 12 हजार को पार कर गया है। वहीं बुकिंग पीरियड में एक महीने का अंतर है और वैरियंट पर निर्भर करता है। अगर आज बुकिंग कराते हैं तो मार्च में डिलिवरी मिलने की उम्मीद है। वहीं जिन वैरियंट्स पर ज्यादा बुकिंग होगी उनका वैटिंग पीरियड बढ़ सकता है।

नई वैगन आर में नया स्पोर्टी इंस्ट्रूमेंट क्लस्टर दिया गया है। इसमें ट्विन पोड इंस्ट्रूमेंट क्लस्टर दिया गया है, जिसमें स्पीड के लिए बड़ा डायल और ओडोमीटर, ट्रिप मीट, फ्यूल गेज जैसी चीजों के लिए छोटा डिजिटल एलसीडी दिया गया है।

नई वैगन आर केवल पेट्रोल वर्जन में आती है। इसमें तीन सिलेंडर वाला 1.0 लीटर और 4 सिलेंडर वाला 1.2 लीटर का पेट्रोल इंजन दिया गया है। पुरानी वैगन आर का सीएनजी वर्जन ज्यादा पॉपुलर था। लेकिन इस बार सीएनजी वर्जन नहीं दिखा। हालांकि उम्मीद जताई जा रही है कि आने वाले महीने में मारुति नई वैगन आर का सीएनजी वर्जन भी उतार सकती है।

पहली बार मारुति वैगन दो नए इंजन के साथ लॉन्च की गई है। मारुति में 1.2 लीटर का पेट्रोल लगा है, जो इग्निस और स्विफ्ट दोनों में आता है। 1.2 लीटर का इंजन 6000 आरपीएम पर 82 बीएचपी की पॉवर और 4200 आरपीएम पर 113 एनएम का टॉर्क देता है। वहीं पॉवर आउटपुट इग्निस और स्विफ्ट भी देती हैं।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *