शादी हुई रात में फिर हो गई मौत, दुल्हन चीख-चीख कर पूछती रही ये बात

बुधवार को यूपी के कौशांबी में तीन बजे आई एक फोन कॉल के बाद देवीगंज में स्थित एक गेस्ट हाउस में अफरातफरी मच गई। हर व्यक्ति घटना की जानकारी होने के बाद भी मौके से भाग रहा था। विमला नाम की दुल्हन को सारा माजरा समझ में नहीं आ रहा था।

विमला हर व्यक्ति को यही पूछती रही कि, भइया हुआ क्या है। कुछ समय तो विमला को ऐसा लगा कि बराती नाराज होकर वहा से जा रहे है। फिर विमला को किसी ने बताया कि एक हादसा हुआ है उसमें उसकी ननद और आठ लोगों की मौत हो चुकी है, तो विमला जोर-जोर से रो पड़ी।

यूपी के फतेहपुर जिले के सुल्तानपुर के मवई गांव निवासी मानिक चंद्र की बेटी विमला की शादी मंगलवार को शहजादपुर गांव के रहने वाले पंकज अग्रहरि से हुई थी। शाम को धूमधाम से बरात पहुंची, बराती नाचते-गाते हुए गेस्ट हाऊस पहुंचे तो वहा के लोगों ने फूल माला से उनका स्वागत किया। इसके बाद कुछ रस्म अदा की गई।

विमला और उसकी ननद शशि ने अपने साथ ही भोजन किया था। फिर बाद सादी की अन्य रस्म होनी थी। इसी बीच विमला कि ननद शशि ने घर जाने का फैसला किया। जाते समय शशि विमला से मिलकर निकली थी। फिर कुछ ही समय बाद गेस्ट हाउस में अफरातफरी मच गई। रिश्तेदार से लेकर हलवाई, टेंट और कैटरिंग वाले भी वहा से चले गए।

दुल्हन विमला के साथ बची थी तो कुछ नजदीकी पक्ष की महिलाएं। उन्को भी कुछ समझ में नहीं आ रहा था। बाद में विमला को पता चला कि सड़क हादसे में कुछ देर पहले निकली ननद शशि और आठ लोगों की मौत हो गई है, तो विमला जोर-जोर से रोने लगी। साथ में रही महिलाओं ने विमला को संभालने का प्रयास किया, लेकिन विमला का रोना बंद नहीं हुआ। फिर विमला को बिना विदा किए मायके भेज दिया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.