संडे हो या मंडे रोज खाओ अंडे, क्या बर्ड फ्लू के प्रकोप के बावजूद आप यह कहेंगे?

आप सभी ने सुना होगा संडे हो या मंडे रोज खाओ अंडे।भाई बर्ड फ्लू तो फैला हुआ है ।पर लोगों ने नॉन वेज खाना अभी भी बंद नहीं किया है। कितनी भी मुश्किलें आ जाएं । जो लोग नॉनवेज खाना पसंद करते हैं, वह किसी भी कारणवश छोड़ नहीं सकते खाते रहते हैं। हमारे घर का भी यही हाल है।

हमारे घर में हमारे पतिदेव का कहना है कि बच्चों को रोज दो से तीन अंडे खाने चाहिए और वह खुद भी दो से तीन अंडे खाते हैं और मैं उन्हें बना कर देती हूं, रही बात मेरी तो भाई मैं तो इस नानवेज से भी दूर हूं। क्योंकि वेजिटेरियन हूं तो खाती ही नहीं, रही बात जिन्हें मानना है वह मान रहे हैं ।जिन्हें नहीं मानना है वह नहीं मान रहे हैं ।

आजकल इंसान वही करता है जो वह करना चाहता है ‌जब तक उन्हें खुद से यह एहसास हो । तब तक आप किसी को कोई काम करने से रोक नहीं सकते ।

आप सोच लीजिए….?? इंडिया में या इंडिया के बाहर क्या नॉन वेज खाना लोगों ने बंद कर दिया होगा…..? नहीं चल रहा है ।हां जहां कुछ ज्यादा किससे हो रहे होंगे उन लोगों ने जरूर नॉनवेज वगैरह बंद किया होगा ऐसे बहुत कम है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.