सड़क को सिर्फ बीच में ही पक्का बनाया जाता है, जबकि इससे सड़क चौड़ी भी हो जाएगी फिर भी उसको दोनों ओर से कच्चा ही क्यों रखा जाता है?

क्या चाहते हैं आप सड़क पर पैदल चलने वाले ना चलें । रोड पर जितना चलने का हक आपको है उतना ही उनको भी है ।

जनाब सड़क के दोनों और लगी हुई कच्ची पटरिया फुटपाथ कहलाती हैं । यह पैदल या साइकिल से चलने वालों के लिए बनाया गया है । फिर भी ओवरटेक करने वाली गाड़ियां पटरी पर आ ही जाती हैं । सोचिए अगर इन्हें भी पक्का कर दिया जाए तो गाड़ियां पैदल चलने वालों पर चहड दौड़ेंगी ।

ट्रैफिक के नियम पैदल चलने वालों की सुरक्षा को देखते हुए बनाए गए हैं. ट्रैफिक नियमों में फुटपाथ और उस पर चलने वाले लोगों के लिए स्पष्ट निर्देश दिए गए हैं. मोटर व्हीकल एक्ट 1988 फुटपाथ पर किसी भी तरह की गाड़ी चलाने से रोकता है. फुटपाथ को सिर्फ पैदल चलने वालों के लिए बनाया गया है.

इंडियन पीनल कोड (1860) का सेक्शन 279 (1), 304, 336 (2), 337 और 338 पैदल चलने वालों को रैश और खतरनाक ड्राइविंग करने वालों से बचाता है. एक्सीडेंट होने की स्थिति में ड्राइविंग करने वाले के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का मुकदमा दर्ज हो सकता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.