हरियाणा में ब्लैक फंगस का कहर, 398 मामले

हरियाणा (Haryana) के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने बताया कि, ब्लैक फंगस (Black Fungus) के मामले बढ़ रहे हैं, अभी 398 मामले हैं। अभी तक हमें 1,250 एंफोटेरिसिन इंजेक्शन (Amphotericin Injection) उपलब्ध हो चुकी है। इंजेक्शन की सख्त जरूरत है। हमने भारत सरकार से 12,000 इंजेक्शन की मांग की है। विदेशों से आयात करने की प्रक्रिया भी शुरू की है।

ब्लैक फंगस के मामले बढ़ रहे हैं, अभी 398 मामले हैं। अभी तक हमें 1,250 एंफोटेरिसिन इंजेक्शन उपलब्ध हो चुकी है। इंजेक्शन की सख्त जरूरत है। हमने भारत सरकार से 12,000 इंजेक्शन की मांग की है। विदेशों से आयात करने की प्रक्रिया भी शुरू की है: हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज

ब्लैक फंगस (Black Fungus) के लिए विदेशों से दवा इंपोर्ट करेगी हरियाणा सरकार। केंद्र सरकार को भी लिखी एप्लीकेशन केंद्र सरकार जो इम्पोर्ट कर रही है उसमें भी हरियाणा को मिले दवाई। हरियाणा सरकार ग्लोबल टैंडर के तहत 1 करोड़ कोरोना की वैक्सीन इंपोर्ट करेगी ताकि प्रदेश में वैक्सीन की कमी ना रहे। केंद्र सरकार से भी हमे रेग्यूलर वैकसीन मिल रही है जो लोगों को नियमित लगायी जा रही है।

जानें क्या होता है ब्लैक फंगस?
‘ब्लैक फंगस’ को म्यूकोर्मिकोसिस (Mucormycosis) भी कहते है। इस बीमारी का समय पर इलाज नहीं हुआ तो मरीज की जान भी जा सकती या फिर मरीज की आंख निकालनी पड़ सकती है। ये बीमारी अधिकतर उन लोगों में ज्यादा होती है जो (Wet Condition) नमी वाले जगह में रहते है। जिनका इम्यूनिटी सिस्टम कमजोर होता है। जो शुगर के मरीज है। या ऐसी दवा लेते हो जो इम्यूनिटी (Immunity) को कमजोर करती हैं। ऐसे लोगों में ‘ब्लैक फंगस’ का खतरा और ज्यादा होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.