हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट (HSRP) क्या है ? इसे लगाने से क्या फायदें होंगे ? जानिए

HSRP की खासियत: HSRP एल्युमीनियम की बनी हुई होती है जिस पर एक होलोग्राम भी लगाया गया है। इस प्लेट पर एक चक्र बना होता है साथ ही नंबर प्लेट पर बाईं तरफ बीच में नीले रंग से अंग्रेजी में इंडिया लिखा होगा। इसके अलावा नंबर प्लेट पर सात अंकों का आईडी नंबर होगा। इस नंबर प्लेट के कोने राउंड होंगे। इसके ऊपर लेजर से नंबर लिखे होंगे।

क्यों जरूरी है HSRP: अगर पुरानी नंबर प्लेट्स की बात करें तो इनके साथ छेड़छाड़ करना बहुत आसान है और इन्हें आसानी से बदला जा सकता है। आमतौर पर, वाहन चोरी करने के बाद सबसे पहले पंजीकरण प्लेट को बदला जाता है।

एक बार नंबर प्लेट बदल दी जाए तो वाहन का पता आसानी से नहीं लगाया जा सकता है। वाहन चोरी की घटनाओं को पुरानी नंबर प्लेट से रोकना सम्भव नहीं है, लेकिन HSRP के साथ ऐसी कोई दिक्कत नहीं है।

HSRP के साथ वाहन चोर छेड़छाड़ नहीं कर सकते हैं। दरअसल इसमें मौजूद रजिस्ट्रेशन मार्क, क्रोमियम-बेस्ड होलोग्राम स्टिकर इस तरह से तैयार किए गए हैं कि इन्हें निकालने की कोशिश करने पर ये खराब हो जाएंगे।

इस पर लगे स्टिकर में गाड़ी के रजिस्ट्रेशन नंबर के साथ, रजिस्टर्ड अथॉरिटी, लेजर ब्रांडेड परमानेंट नंबर, इंजन और चेसिस नंबर तक की जानकारी होगी। इस नंबर प्लेट से न सिर्फ आपके वाहन पहले से कहीं ज्यादा सुरक्षित हो जाएंगे बल्कि सरकार आसानी से इनपर नजर भी रख सकेगी।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *