हिमाचल प्रदेश के मनाली लेह मार्ग में स्थित पानी मांगने वाले भूत के मंदिर के बारे में आप क्या जानते हैं?

हिमाचल प्रदेश के मनाली लेह मार्ग पर एक भूत मंदिर स्थित है ।लोग वहां पर सिगरेट और मिनरल वाटर की बोतल चढ़ाते हैं और कहा भी जाता है कि यह पुरी दुनिया में यह इकलौता भूत का मंदिर है।

हिमाचल के मनाली लेह मार्ग पर गाटा लूप्स है। करीब 17000 फुट की ऊंचाई पर विरान पहाड़ और खामोशी एक अजीब अहसास करवाती है ।यहीं पर एक छोटा सा भूत मंदिर स्थित है । इस रहस्यमयी भूत स्थान पर मिनरल वाटर की बोतल और सिगरेट रखकर ही आगे बढ़ा जा सकता है ।

कहते हैं करीब 30 साल पहले एक ड्राइवर क्लीनर ट्रक लेकर मनाली से लेह जा रहा था ,लेकिन सरजू से तकरीबन 35 किलोमीटर लचुलूंगला के पास 22 मोड में वाहन गिर गया। क्लीनर भी उसकी चपेट में आ गया था। ड्राइवर घायल क्लीनर को छोड़कर भाग गया, लेकिन कुछ लोग बताते हैं कि ड्राइवर दूर गांव में मदद मागने के लिए गया था और उसे वापस लौटने में काफी देर हो गई थी।

एक अन्य ड्राइवर ने घायल क्लीनर को देखा था और वह पानी के लिए चिल्ला रहा था। जब तक वह पानी लेकर आता तब तक उसकी मौत हो चुकी थी। उसी के बाद से वहां से गुजरने वाले ड्राइवरों को उसकी आत्मा का एहसास होने लगा , और ‘पानी लाओ, पानी लाओ ‘ की आवाज सुनाई देने लगी । तथा सड़क हादसों की संख्या भी बढ़ गई। उसी अतृप्त आत्मा को शांत करने के लिए वहां पर मंदिर बनाया गया और पानी और सिगरेट चढ़ाने लगे।

इसी के कारण वहां से गुजरने वाले लोग मिनरल पानी की बोतलें व सिगरेट चढ़ाते हैं।तभी यात्रा सफल होती अन्यथा यात्रा में विघ्न आते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.