हैदराबाद के अस्पताल में पांच कोविड 19 मरीजों की मौत, ऑक्सीजन की आपूर्ति में देरी हुई

ऑक्सीजन की कमी के चलते हैदराबाद के एक अस्पताल में 5 कोरोना मरीजों की मौत का मामला सामने आया है. यहां के किंग कोठी सरकारी अस्पताल में कोरोना का इलाज करा रहे मरीजों को वक्त पर ऑक्सीजन नहीं मिली जिनमें से 5 मरीजों ने दम तोड़ दिया. यह मामला शनिवार शाम का है.

जानकारी के मुताबिक जिस ऑक्सीजन टैंकर को अस्पताल के प्लांट में रिफल करने के लिए आना था, वह वक्त पर नहीं पहुंच सका, जिसके चलते नाजुक हालत में इलाज करा रहे 5 करोना मरीजों की जान चली गई. हालांकि अस्पताल प्रशासन ऑक्सीजन की कमी को नकार रहा है.

अस्पताल प्रशासन का कहना है कि मरीजों की मौत ऑक्सीजन की कमी से नहीं हुई है. साथ ही प्रशासन दावा कर रहा है कि पांचों मरीज की हालत गंभीर थी और वे आईसीयू में कोरोना का इलाज करा रहे थे. नाजुक हालत में तबियत बिगड़ने से मरीजों की मौत हुई है.

कर्नाटक में गई थी 24 मरीजों की जान
बीते दिनों कर्नाटक के चामराजनगर जिले में ऐसा ही मामला सामने आया था, जहां ऑक्सीजन की कमी के चलते कोरोना का इलाज करा रहे 24 मरीजों की मौत हो गई थी. चामराज इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस में मैसूर से आने वाली ऑक्सीजन सप्लाई वक्त पर नहीं पहुंच सकी, जिसके बाद 24 मरीजों ने दम तोड़ दिया.

ऑक्सीजन पर टास्क फोर्स गठित

देश के कई हिस्सों में अस्पतालों के पास ऑक्सीजन की कमी की शिकायतों के बाद ही सुप्रीम कोर्ट की ओर से एक टास्क फोर्स का गठन किया गया है. ये टीम राज्यों में ऑक्सीजन की सप्लाई को मॉनिटर करेगी साथ ही जरूरत के हिसाब से ऑक्सीजन के आवंटन की निगरानी भी करेगी.

ऑक्सीजन की व्यवस्थित तरीके से आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए 12 सदस्यीय इस टास्क फोर्स की पहली बैठक भी रविवार को हुई जिसमें विशेषज्ञों और डॉक्टरों की टीम ने देशभर में अस्पतालों को होने वाली ऑक्सीजन सप्लाई की समीक्षा की.

Leave a Reply

Your email address will not be published.