हॉस्पिटल में डॉक्टर के कपड़े और पर्दे का रंग हरा क्यों रहता है?

डॉक्टर को धरती पर भगवान का रूप माना जाता है और ये सच भी है क्योंकि जब भी हमे कोई बीमारी होती है तो डॉक्टर ही हमारा इलाज करके हमे बचाते हैं। आजकल कोरोना के कारण डॉक्टर अपनी जिन्दगी दांव पर लगाकर मरीजों का इलाज कर रहे हैं। ऐसे में उन्हे धरती का भगवान कहा जाए तो कुछ गलत नहीं होगा।

हममे से अधिकतर लोग डॉक्टर के पास या हॉस्पिटल में जरूर गए होंगे। वहाँ जाने पर एक चीज सबने नोटिस किया होगा कि वैसे तो डॉक्टर सफेद कोट पहनते हैं लेकिन जब ऑपरेशन की बारी आती है तो हरे या नीले रंग के कपड़े पहन लेते हैं। यहाँ तक कि अस्पतालों में हरे या नीले रंग का कपड़ा भी लगा होता है। लेकिन आपमे से बहुत कम लोगों ने इस तरफ ध्यान दिया होगा। आज हम इसी पर चर्चा करेंगे।

अक्सर आप सभी ने फिल्मों में या अस्पताल मे डॉक्टर को हरे या नीले रंग के कपडे पहने हुए देखा होगा विशेषकर जब किसी का Operation करना होता है उस वक्त। कहा जाता है की पहले डॉक्टर से लेकर अस्पताल के सभी कर्मचारी सफेद कपडे पहनते थे, लेकिन सन 1914 में एक प्रभावशाली डॉक्टर ने इस पारंपरिक ड्रेस को हरे रंग मे बदल दिया. तब से ज्यादातर डॉक्टर हरे रंग के कपडे पहनने लगे, हालाकि कुछ डॉक्टर नीले रंग के कपडे भी पहनते है।

इसे भी पढें: 99% Fail: भारत में शुक्रवार को ही फिल्में क्यों रिलीज होती है?
एक मशहूर पत्रिका, टुडे सर्जिकल नर्स की 1998 में छ्पी एक रिपोर्ट के मुताबिक, सर्जरी के समय डॉक्टर हरे रंग के कपडे इसलिए पहनते हैं क्योंकि हरा रंग आंखों को आराम देता है। अक्सर ऐसा होता है कि जब भी हम किसी एक रंग को लगातार देखने लगते हैं तो हमारी आंखों में अजीब सी थकान महसूस होने लगती है।

हमारी आंखें सूरज या फिर किसी भी दूसरी चमकदार चीज को देख कर चौंधिया जाती हैं, लेकिन इसके तुरंत बाद अगर हम हरे रंग को देखते हैं, तो हमारी आंखों को सुकून मिलता है। दोस्तों, ऑपरेशन के दौरान डॉक्टरों को भी लगातार अपनी आंखे खुली रखनी पडती है जिसके कारण उनकी आँखे थक जाती है। ऐसे मे यदि तुरंत ही हरे रंग को देखा जाए तो आंखो को ठंडक मिलती है।

अगर वैज्ञानिक दृष्टिकोण से देखा जाए तो हमारी आंखों का जैविक निर्माण कुछ इस प्रकार से हुआ है कि ये मूलतः लाल, हरा और नीला रंग देखने में सक्षम हैं। इन रंगों के ही मिश्रण से बने अन्य करोड़ों रंगों को इंसानी आंखें पहचान सकती हैं। लेकिन इन सभी रंगों की तुलना में हमारी आंखें हरा या नीला रंग ही सबसे अच्छी तरह देख सकती हैं।

बात करें डॉक्टरों की तो डॉक्टर ऑपरेशन के समय हरे रंग के कपडे इस लिए पहनते है क्योंकि हरे रंग मे खुन का लाल रंग नही दिखाई देता जिसको देखकर मरीज को कोई तनाव महसूस ना हो और दुसरा कारण यह भी है की वह लगातार खून और मानव शरीर के अंदरूनी अंगों को देखकर मानसिक तनाव में आ सकते हैं ऐसे में हरा या नीला रंग को देखने से मस्तिष्क को आराम मिलता है।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *