होटल में सिर्फ सफेद चादर का उपयोग क्यों किया जाता है? जानिए वजह

1990 के दशक से पहले, होटल में रंगीन चादरों का ही इस्तामल किया जाता था। रंगीन चादरों का रखरखाव करना काफी सरल होता है क्योंकि उसमें लगे दाग छुप जाते थे।

लेकिन 1990 के दशक में एक वेस्टिन के होटल डिजाइनरों ने एक रिसर्च किया, जिसमें कहा गया कि मेहमान के लिए एक लक्जरी बेड का अर्थ क्या होता है।

इसिस को ध्यान में रखते हुए और अतिथि की हाइजीन को ध्यान में रखते हुए सफेद बेडशीट का ट्रेंड चल पड़ा।

कई और कारणों से सफेद चारद का इस्तामल होटलों में किया जाता है:-

  • अक्सर लोग छुट्टियों में अपने तनाव को दूर करने के लिए घुमने जाते हैं। होटल के कमरे में बिछी सफेद बेडशीट उन्हें अपनी तरफ बहुत आकर्षित करती है। जिस पर आप कुछ पल व्यतीत कर अपनी यात्रा की थकान को कम कर सकते है।
  • ऐसा माना जाता है सफेद कलर आंखों को सुकून देता है। यही कारण है कि इसे पवित्र और क्लियर भी माना जाता है।
  • बेडशीट का रंग सफेद होने के कारण इसके गंदे होते ही होटल वर्कर्स को इसका पता शीघ्र चल जाता है। जिससे उन्हें उसे चेंज करने में बहुत ही सरलता होती है।
  • वाइट बेडशीट पर गलती से अगर कोई दाग भी लग जाता है तो उसे ब्लीच करना काफी सरल होता है। इस तरह होटल में सफेद बेडशीट को क्लियर करने के लिए अक्सर ब्लीच का यूज़ किया जाता है। ऐसा करने से कीटाणु भी समाप्त हो जाते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.