13 अप्रैल से शुरू हो रहे है माता दुर्गा के नवरात्रि इस बार जानिए पहले नवरात्रि में दुर्गा माता किस वाहन पर स्वार होके आएगी ?

पंचांग के अनुसार इस बार चैत्र नवरात्रि का पर्व 13 अप्रैल से आरंभ हो रहा है जैसा कि आप जानते हैं चैत्र नवरात्रि के दिनों में माता दुर्गा या भवानी दुर्गा के नौ रूपों की पूजा की जाती है माता दुर्गा को शक्ति स्वरूपा के नाम से भी जाना जाता है तथा माता दुर्गा को शक्ति का प्रतीक भी माना गया है दुर्गा मां की पूजा करने से सभी प्रकार की इच्छाएं और मनोकामना पूर्ण होती है

मंगलवार 13 अप्रैल से नवरात्रि के पर्व प्रारंभ होंगे / नवरात्रि का पर्व गुजरात, बंगाल ,बिहार, उड़ीसा, के साथ-साथ पूरे भारत में बड़े धूमधाम से मनाया जाता है / नवरात्रि के मौके पर भारत में व्रत रखने की परंपरा प्रचलित है देवी मां के भक़्त पूरे 9 दिनों तक श्रद्धा पूर्वक व्रत को करते हैं/ नवरात्रि के पर्व पर दुर्गा माता के नौ स्वरूपों में जैसे शैलपुत्री, ब्रह्मचारिणी, चंद्रघंटा, कुष्मांडा, स्कंदमाता ,कात्यायनी ,कालरात्रि, महागौरी ,सिद्धिदात्री की विधि पूर्वक पूजा अर्चना की जाती है/नवरात्रि के दिनों में इन सभी देवियों का अपना एक विशेष महत्व है

जिस प्रकार से नवरात्रि के दिनों में माता के स्वरूपों को विशेष माना गया है ठीक उसी प्रकार से माता के वाहन को भी विशेष माना गया है/ मोदनी ज्योतिष शास्त्र मे इस बात पर प्रकाश डाला गया है कि माँ दुर्गा नवरात्रों के पहले दिन अलग-अलग वाहनों पर सवार होकर आती हैं / मां के वाहन के द्वारा भी सुख समृद्धि का पता लगाया जा सकता है / इस बार भी नवरात्रि के दिनों में एक विशेष बात यह है कि 2020 में दुर्गा माता जिस वाहन पर सवार होकर आई थी ठीक इस बार भी उसी वाहन पर दुर्गा माता संवार होकर आ रही है/ दुर्गा माता इस बार भी ठीक उसी वाहन पर संवार होकर आ रही है वर्ष 2021 में वासंतिक नवरात्रि चैत्र मास की शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि को भी मां दुर्गा का वाहन अश्व ही रहेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.