18 वर्षीय लड़की ने हॉस्टल के बाथरूम दिया बच्चे को जन्म और बाल्टी में छोड़कर भाग गई

आज हम आपको एक ऐसा मामला बताने वाले हैं जिसमें एक 18 वर्षीय छात्रा ने गर्ल्स हॉस्टल के बाथरूम में बच्चे को जन्म दिया है और बच्चा जन्म देने के बाद उस नवजात शिशु को लड़की ने उसको वही बाथरूम में छोड़ दिया था।

आपको बता दें कि यह खबर महाराष्ट्र के 2 जिले की है जहां पर गर्ल्स हॉस्टल में रहने वाली 18 वर्ष की लड़की ने टॉयलेट में एक बच्चे को जन्म दिया और इसके  उस नवजात को वही बाथरूम में बाल्टी के अंदर छोड़कर चली गई थी, यह मामला 29 फरवरी का है, धुले जिले के सकरी शहर में एक सावित्रीबाई फुले आदिवासी गर्ल्स हॉस्टल टॉयलेट में यह घटना हुई थी.

ऐसा बताया जा रहा है कि जब उस हॉस्टल की वार्डन ने बच्चे की रोने की आवाज सुनी तो वह आवाज की तरफ चल पड़ी और वह टॉयलेट में पहुंच गई, जब उसने टॉयलेट में देखा तो वहां पर एक नवजात बच्चा बाल्टी में रोता हुआ दिखा, इस नजारे को देखकर वहां की वार्डन काफी सोच में पड़ गई।

जब इस मामले के बारे में हॉस्टल की सभी लड़कियों से पूछताछ की गई तो इस पर सभी लड़कियों ने मना कर दिया था, इसके पश्चात इस पूरे मामले की पूरी जानकारी पुलिस को दी गई थी, जब यह मामला पुलिस के पास पहुंचा तब इस पर कार्यवाही करना शुरू कर दिया गया.

जब हमने इस पूरे मामले की छानबीन की और सभी छात्राओं से इस विषय में पूछने का प्रयास किया तो सभी छात्राओं ने इसके बारे में कुछ भी बताने से साफ-साफ मना कर दिया था, सभी छात्राओं ने यह कहा था कि यह बच्चा उनका नहीं है, उन्होंने बोला कि हमको नहीं पता है कि यह बच्चा किसका है?

लेकिन उन छात्राओं में से एक छात्रा पर शक जताया गया, शक के आधार पर उस छात्रा का मेडिकल कराया गया था, जब उस छात्रा का मेडिकल हुआ था तब पूरी सच्चाई खुलकर सामने आ गई थी, जब मेडिकल कराने के बाद यह स्पष्ट हो गया कि यह बच्चा उसी का है.

तो इसके बाद उस लड़की ने यह माना है कि इस बच्चे को जन्म उसी ने दिया था। जब इस बात की सच्चाई पता लगी तब उस लड़की और नवजात शिशु को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *