300 साल पुरानी गोबर और मिट्टी से बनी यह हनुमान मूर्ति आज भी सुरक्षित है, जानिए कैसे

भारत में हनुमानजी के बहुत सारे मंदिर है पर उत्तर प्रदेश के निगोहा में उतरावां गांव में बालाजी का एक ऐसा मंदिर है जिसमे प्रतिमा गाय के गोबर से बनी हुई है | यह प्रतिमा 300 साल पुरानी है और अभी तक भी यह वेसी ही बनी हुई है जैसे यह पहले थी | माना जाता है की इस मंदिर पर बालाजी महाराज की विशेष कृपा से ही यह चमत्कार हो पाया है |

क्यों बनाई यह मूर्ति गोबर से :
हमारे सनातन धर्म में गौ माँ को माँ का स्थान दिया गया है साथ ही साथ गौ माँ में सभी देवी देवताओ का वास है | गौ माँ की पवित्रता की प्रतीक है | गौ मूत्र भी पूजा पाठ में काम में लिया जाता है | गौ के गोबर से बने कुंडे से ज्योत देखी जाती है |

शास्त्रों के अनुसार यह बताया गया है कि गाय के पूछ पर हनुमान जी का वास होता है इसी कारण इस मंदिर में पवन पुत्र की प्रतिमा गोबर और मिट्टी से बनाई गई है

Leave a Reply

Your email address will not be published.