32 years ago when Ramayana had to go to Laxman police station? Interesting story

32 साल पहले जब रामायण के लक्ष्मण जाना पड़ा था थाने? दिलचस्प है किस्सा जानिए

आज कल रामानंद सागर की रामायण आजकल सुर्खियां बटोर रही है और लोग इनके कलाकारों को भी काफी पसंद कर रहे हैं.दोस्तो रामायण के लक्षण जानी सुनील लहरी ने बताया की कैसे उनकी महिला फैंस के प्यार ने उन्हें थाने जाने पर मजबूर कर दिया था. सुनील की कद काठी और मनोहर व्यक्तित्व की वजह से 80 के दशक में लाखों लड़कियां उन पर मरती थीं. इस बारे में सुनील लहरी ने ढेर सारे खुलासे किए हैं.

कहते है किसी भी चीज की अति बुरी होती है, फिर चाहे वो आपके चाहने वाले का बेइंतेहा प्यार ही क्यों ना हो. रामानंद सागर की ‘रामायण’ ने जहां परदे के सीता और राम यानी अरुण गोविल और दीपिका चिखलिया को भगवान बना दिया था, वहीं लक्ष्मण के किरदार को निभाने वाले एक्टर सुनील लहरी को मिला था देश की महिलाओं का बेशुमार प्यार. यही प्यार सुनील लहरी के लिए एक समय पर मुसीबत बन गया था.सुनील लहरी ने बताया की कैसे उनकी महिला फैंस के प्यार ने उन्हें थाने जाने पर मजबूर कर दिया था.

सुनील की कद काठी और मनोहर व्यक्तित्व की वजह से 80 के दशक में लाखों लड़कियां उन पर मरती थीं. इस बारे में सुनील लहरी ने ढेर सारे खुलासे किए हैं.सुनील ने बताया, ‘उन दिनों रामायण के दिनों में मुझे समझ नहीं आता था कि क्यों मुझे इतनी महिलाओं और लड़कियों का प्यार मिल रहा है. क्यूंकि लक्ष्मण कोई रोमांटिक किरदार तो था नहीं. मुझे समझ ने नहीं आया कि ऐसा क्यों हो रहा है और इस बारे में हमेशा पापा जी यानी हमारे शो के प्रोडूसर और डायरेक्टर रामानंद सागर को बताता था.’

उन्होंने आगे कहा, ‘उस वक्त हमें फैंस के हाथ से लिखे खत आया करते थे और वो भी बहुत अजब-गजब टाइप के होते थे, जिसमें हर किस्म की बातें लिखी होती थीं. हां, रोमांस से भरे लेटर्स खूब होते थे. एक बार तो एक ऐसा लेटर आया जिसमें लिखा था कि अगर आपने हमसे शादी नहीं की तो हम कुंए में कूदकर जान दे देंगे और ये लेटर पढ़कर मैं बहुत डर गया था. इसीलिए उस वक्त मैंने इस बारे में एक पुलिस कंप्लेंट भी की थी. मैं ये नहीं चाहता था कि अगर कुछ उल्टा सीधा हो जाए तो मैं इसके लिए जिम्मेदार ठहराया जाऊं.’

सुनील ने बताया कि फैन्स का बहुत सारा प्यार पाकर उन्हें खुशी भी होती है. वो बोले, ‘कुछ ऐसी थी उन दिनों रामायण के किरदारों को लेकर लोगों की दीवानगी. आजकल के एक्टर्स तो काफी फिट और हैंडसम है और उन सबके के बीच मुझे सोशल मीडिया पर फिर से ढेर सारा प्यार मिल रहा है. सच में मैं बहुत लकी हूं और ये अटेंशन एक मेल एक्टर के रूप में मिलता है तो बहुत खुशी की बात होती है. क्यूंकि आजकल या हमेशा से ही ये अटेंशन पाने के लिए लोग क्या-क्या करते हैं.’रामानंद सागर का सीरियल रामायण यूं तो 1987 में दूरदर्शन पर करीब तीन साल तक चला और इस दौरान इसमें काम करने वाले कलाकार उस वक्त रातों रात स्टार्स बन गए थे.

सुनील ने अपने करियर की शुरुआत फिल्मों से की, लेकिन ये फिल्में उन्हें कोई खास पहचान नहीं दिला पाईं और तब उन्होंने टीवी सीरियल्स का रुख किया.रामानंद सागर के साथ सुनील लहरी ने विक्रम और बेताल और दादा दादी की कहानियां जैसे सीरियल्स में काम किया और उनके इन्हीं सीरियल्स के किरदारों की वजह से रामानंद सागर ने उन्हें रामायण में लक्ष्मण का रोल ऑफर किया था.भोपाल के रहने वाले सुनील को रामायण ने स्टार तो बनाया लेकिन इसके बाद वो ज्यादा फिल्मों और सीरियल्स में नहीं दिखे.

Leave a Reply

Your email address will not be published.