क्रिकेट का ऐसा गेंदबाज जिसने अपनी पूरी जिंदगी में नहीं फेंकी नो बोल जानिए इनके बारे में

क्रिकेट में गेंदबाज की ओर से नो बॉल फेंकना एक अपराध की तरह होता, क्योंकि इससे बैटिंग टीम को ना सिर्फ एक एक्स्ट्रा बॉल मिलती है बल्कि एक रन भी मिलता है और अगली गेंद फ्री हिट होती है, जिस पर रन आउट, गेंद को दो बार हिट करने, क्षेत्ररक्षण में बाधा पहुंचाने और गेंद को हाथ से पकड़ने के आलावा बैट्समैन एलबीडब्ल्यू, कैच या बोल्ड आउट नहीं हो सकता।

अधिकतर समय तेज गेंदबाज ही नो बॉल गेंदें फेंकते हैं, स्पिनर्स मम्मी नो बॉल नहीं डालते। क्रिकेट इतिहास में ऐसी बहुत सारी घटनाएं हैं, जब किसी गेंदबाज के नो बॉल फेंकने के कारण उसकी टीम को हार झेलनी पड़ी है।

वर्तमान समय में अगर आप किसी ऐसे गेंदबाज की तलाश करना चाहेंगे, जिसने नो बॉल नहीं फेंका हो तो यह एक मुश्किल काम होगा। लेकिन, क्रिकेट के इतिहास में पांच ऐसे भी विशिष्ट गेंदबाज हुए हैं जिन्होंने अपने पूरे क्रिकेट करियर में कभी नो बॉल नहीं फेंका। इन पांच गेंदबाजों में चार फास्ट और एक स्पिन गेंदबाज है।इसमें भारत के मशहूर गेंदबाज कपिल देव जी भी शामिल है.

भारतीय क्रिकेट में एक ऑलराउंडर के रूप में कपिल देव ने जो स्थान हासिल किया है, उसे अभी तक कोई दूसरा हरफनमौला चुनौती नहीं दे पाया है। 1978 में टेस्ट में पदार्पण करने वाले कपिल देव ने 1983 में भारत को अपनी कप्तानी में विश्व विजेता बनाया। कपिल देव की वनडे विश्व कप सेमीफाइनल में जिम्बाब्वे के खिलाफ 138 गेंदों में खेली गई175 रनों की पारी क्रिकेट इतिहास में स्वर्णिम अच्छरों में दर्ज हो चुकी है।

दोस्तों यह पोस्ट आपको कैसी लगी हमें कमेंट करके जरूर बताएं और अगर यह पोस्ट आपको पसंद आई हो तो इसे ज्यादा से ज्यादा शेयर लाइक करना ना भूलें और और अगर आप हमारे चैनल पर नए हैं तो आप हमारे चैनल को फॉलो कर सकते हैं ताकि ऐसी खबरें आप रोजाना पा सके धन्यवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *