ATM में AC क्यों लगा होता है?, जानें और भी तथ्य

आप तो एटीएम गए ही होंगे उसमें आपने AC लगा हुआ भी देखा होगा। लेकिन कभी आपने सोचा है एटीएम में AC क्यों लगा होता है। अब आप यह सोचते होंगे कि एटीएम में AC गार्ड के लिए लगे होते होंगे या पैसे निकालने वाले कस्टमर के लिए अगर आप भी ऐसा ही कुछ सोच रहे हैं तो आप बिल्कुल गलत है। तो चलिए आपको बताते है एटीएम में AC क्यों लगा होता है और इसके पीछे का कारण क्या है।

इसके पीछे का टेक्निकल कारण है

एटीएम में AC इसलिए लगा होता है क्योंकि एटीएम लगातार काम काम करते हैं पैसे निरंतर निकलने और एटीएम हमेशा स्टार्ट रहने की वजह से एटीएम बहुत ज्यादा गर्म होने लगते हैं जिससे AC की खराब होने की संभावनाएं बढ़ जाती है। इसके कारण ही एटीएम में AC लगाए जाते हैं ताकि एटीएम में हीटिंग की कोई समस्या ना हो और एटीएम मशीन सामान ताप में रहे और सही से कार्य करते रहे। यही कारण है कि एटीएम में AC लगे हुए होते हैं।

क्या आप जानते हैं एटीएम का पूरा नाम?

ATM का पूरा नाम है – AUTOMATED TELLER MACHINE..

AOTOMEATED का मतलब है एक ऐसा मशीन जो ऑटोमैटिक काम करता है बिना किसी इंसान के।

TELLER का मतलब है ऐसी डिवाइस जो लेन – देन से जुड़ा हो। ATM की शुरुआत 27 जून 1967 को लंदन से हुई थी।

दुनियां में पहला एटीएम यहां पर लगाया गया

दुनिया का सबसे पहला ATM लंदन मे लगायी गयी थी। भारत में पहला ATM मशीन की 1987 मे लगाया गया था।

इतने टाइप के होते हैं एटीएम

ऑफ साइट एटीएम

ये वे एटीएम हैं जो बैंक परिसर के बाहर स्थित होते हैं जैसे शॉपिंग मॉल, आवासीय सोसायटी आदि।

व्हाइट लेबल एटीएम

वे एटीएम हैं, जिनका स्वामित्व और संचालन गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनी द्वारा किया जाता है।

येलो लेबल एटीएम

ये वे एटीएम हैं जो मुख्य रूप से ई-कॉमर्स लेनदेन के लिए स्थापित किए गए हैं।

ब्राउन लेबल एटीएम

ये वे एटीएम हैं, जहां मशीन का स्वामित्व बैंक के पास नहीं है, बल्कि इसे लीज पर लिया गया है।

ऑरेंज लेबल एटीएम

ये वे एटीएम हैं जो मुख्य रूप से शेयर लेनदेन के लिए स्थापित किए जाते हैं।

पिंक लेबल एटीएम

ये वे एटीएम हैं जो मुख्य रूप से महिला बैंकिंग के लिए लगाए गए हैं।

ग्रीन लेबल एटीएम

ये वे एटीएम हैं जो मुख्य रूप से कृषि से संबंधित लेनदेन के लिए स्थापित किए जाते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.