CBSE का नया नियम, 10th Board Exam में Fail नहीं होगा कोई छात्र

सीबीएसई (CBSE) स्टूडेंट्स के लिए अच्छी खबर आई है. सीबीएसई बोर्ड के नए नियम के मुताबिक, अब 10वीं कक्षा (CBSE Board Exams 2021) में कोई भी छात्र फेल नहीं होगा. कुछ नंबरों के कम होने के कारण कई बच्चे हर साल फेल हो जाते थे और उनका पूरा साल बर्बाद हो जाता था. नए फैसले के बाद उन्हें कम नंबरों के बावजूद 11वीं में प्रमोट कर दिया जाएगा.

नई दिल्ली: सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (CBSE) स्कूलों में पढ़ने वाले स्टूडेंट्स के लिए बहुत अच्छी खबर आई है. दरअसल, स्किल इंडिया (Skill India) के मकसद को ध्यान में रखते हुए सीबीएसई बोर्ड (CBSE Board) ने नए नियम बनाए हैं. इनसे छात्रों को कई फायदे मिलने वाले हैं.

नए नियम के मुताबिक, सीबीएसई के छात्रों को अब 10वीं की परीक्षा (CBSE Board Exams 2021) में फेल नहीं किया जाएगा. कई छात्र मैथ (Math) या साइंस (Science) विषयों में फेल हो जाते हैं लेकिन अगर वे कंप्युटर या किसी दूसरी स्किल में अच्छे हैं तो सिर्फ एक या दो विषय में अच्छे अंक नहीं होने की स्थिति में उन्हें फेल (Fail) नहीं किया जाएगा.

छात्रों का साल नहीं होगा बर्बाद

सीबीएसई (CBSE) के इन नियमों से हुनरमंद (Skilled) बच्चों का साल खराब होने से बच जाएगा. कई हुनरमंद बच्चे किसी एक विषय (Subject) में कमजोर होने के कारण फेल हो जाते थे और उनका साल बर्बाद हो जाता था. लेकिन अब ऐसा नहीं होगा. दरअसल सीबीएसई (CBSE) ने अपने नियमों में कुछ बदलाव कर नए नियमों को जोड़ा है.

इस नए नियम को लेकर लोग तरह-तरह की प्रतिक्रिया दे रहे हैं. इस नए नियम से बच्चे काफी खुश हैं तो वहीं कुछ टीचर और अभिभावक काफी परेशान भी हैं. 

नई शिक्षा नीति को लेकर हो रहे कई बदलाव

सीबीएसई (CBSE) की ओर से तय स्किल बेस्ड लर्निंग प्रोग्राम (Skill Based Learning Program) में छात्रों की रुचि साल-दर-साल बढ़ती जा रही है. 2020 में जहां 20 प्रतिशत छात्र-छात्राओं ने स्किल बेस्ड सब्जेक्ट्स को चुना तो 2021 में इनका प्रतिशत 30 हो गया. छात्र-छात्राओं का रुझान स्किल डेवलपमेंट (Skill Development) की ओर बढ़ा है और अगर कोई किताबी पढ़ाई में अच्छा नहीं माना जा रहा है तो भी छात्र का कोई नुकसान नहीं होगा.

नई शिक्षा नीति (New Education Policy) को लेकर स्कूलों में कई बदलाव किए जा रहे हैं. हाल ही में शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने सीबीएसई के प्रमुख से बातचीत की थी. इसमें उन्होंने स्कूलों में नई शिक्षा नीति को लागू करने पर जोर दिया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published.