900 साल बाद चूड़ामणि सूर्य ग्रहण, इससे पहले 5 जून को था चंद्र ग्रहण

Chudamani solar eclipse after 900 years, before lunar eclipse on June 5

900 साल बाद कंकणाकृति खण्डग्रास सूर्य ग्रहण कल। रविवार होने के कारण इसे चूणामणि ग्रहण कहा जा रहा है। इससे पहले 5 जून को चंद्र ग्रहण लग चुका है। एक ही महीने में दो ग्रहण लगने की स्थिति सही नहीं है। वहीं ज्योतिषियों के अनुसार एक ही माह में दो ग्रहण प्राकृतिक आपदाओं के साथ ही महामारी लेकर आते हैं।

ज्योतिषियों के अनुसार अमावस्या पर यह ग्रहण लगने के कारण अमावस्या का श्राद्ध कर्म ग्रहण के बाद रविवार को होगा चूड़ामणि सूर्य ग्रहण पर कल बंद हो जाएंगे मंदिरों के कपाट ग्रहण से पहले भी करें स्नान।ग्रहण की समाप्ति पर दोबारा स्नान करने के बाद मंदिर में अमावस्या का दान पुण्य करना चाहिए। मां तारा ज्योतिष संस्थान के अनिल मिश्रा के अनुसार मिथुन राशि में होने जा रहे,इस ग्रहण के
समय मंगल जल तत्व की राशि मीन में स्थित होकर सूर्य,बुध,चंद्रमा और राहु को देखेंगे,जो अशुभ संकेत है।

अनिल ने कहा कि राहु और केतु तो सदैव उल्टी चाल ही चलते हैं,तो इस लिहाज से कुल छह ग्रह वक्री रहेंगे। यह स्थिति पूरे विश्व में उथल-पुथल मचाएगी।

21 जून को लगेगा सूर्य ग्रहण, जानें कब लगेगा ग्रहण का सूतक काल।6 घंटे लंबा होगा ग्रहण-21 जून को सुबह 9:15 बजे ग्रहण शुरू हो जाएगा और
12:10 बजे दोपहर में पूर्ध ग्रहण दिखेगा। इस दौरान कुछ देर के लिए हल्क अंधेरा सा छा जाएगा। इसके बाद 03:04 बजे ग्रहण समाप्त हो गए।

दोस्तों यह पोस्ट आपको कैसी लगी हमें कमेंट करके जरूर बताएं और अगर यह पोस्ट आपको पसंद आई हो तो इसे ज्यादा से ज्यादा शेयर लाइक करना ना भूलें और अगर आप हमारे चैनल पर नए हैं तो आप हमारे चैनल को फॉलो कर सकते हैं ताकि ऐसी खबरें आप रोजाना पा सके धन्यवाद।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *