Why not a single patient of Corona virus in North Korea will be surprised to know

महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के मामले बढ़कर पहुंच चुके हैं 106

महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के मामले बढ़कर 106 तक पहुंच चुके हैं। इस वायरस की वजह से प्रदेश में अब तक कुल तीन लोगों की जान गई है। राज्य स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने मंगलावर (24 मार्च) को यह जानकारी दी।

वहीं, भारत में कोरोना वायरस संक्रमण के अब तक करीब 500 मामले सामने आए हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के मंगलवार (24 मार्च) तक के आंकड़ों में यह संख्या सामने आई है। मंगलवार सुबह तक के अद्यतन आंकड़ों के मुताबिक देश में कोविड-19 के कुल मामले 492 हो गए हैं जिनमें से 446 लोगों का अभी इलाज चल रहा है। देश में 22 नए मामले सामने आने के बाद कोविड-19 से अब भी संक्रमित लोगों की संख्या 446 है।

कोरोना वायरस की कमर तोड़ने के लिए शुरू किए गए जनता कर्फ्यू और लॉकडाउन की वजह से दुनिया के सबसे ज्यादा प्रदूषित शहरों में शुमार दिल्ली (Delhi) की हवा सांस लेने लायक हो गई है. पीएम-10 और 2.5 दोनों अपने सामान्य स्तर पर आ गए हैं. जो दिल्ली प्रदूषण के मानचित्र पर हमेशा लाल-पीली दिखती थी, वो अब हरी दिख रही है. दिल्ली-एनसीआर में प्रदूषण (Pollution) के कारण ही लोग जहरीली हवा में सांस लेने को मजबूर रहते हैं.

राजधानी में आमतौर पर इतनी साफ हवा अगस्त में ही सिर्फ दो-चार दिन के लिए मिलती है. लेकिन लॉकडाउन की वजह से इन दिनों भी दिल्ली की हवा साफ है. आपको बता दें कि पुणे और मुंबई में भी इस वक्त प्रदूषण खत्म हो गया है. प्रदूषण मॉनिटरिंग मैप या एयर क्वालिटी इंडेक्स (Air Quality Index) पर कभी-कभार ही दिल्ली, ग्रीन कलर में दिखती है. यहां हवा हमेशा खराब रहती है. लेकिन कोरोना से जंग लड़ने के लिए जब से लोगों का बाहर निकलना बंद या कम हुआ है. वाहनों की आवाजाही कम हुई है, दिल्ली के वातावरण में सुधार दिखने लगा है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.