गर्भधारण में डॉक्टर की एडवाइज कर सकती है मदद

करियर में सेटल होने के चक्कर में आजकल अधिकांश वर्किंग कपल लेट बच्चा प्लान करते हैं। जिसकी वजह से कई तरह की दिक्कतें आती हैं। कुछ को फर्टिलिटी की समस्या भी हो जाती है, क्योंकि उम्र और जीवनशैली का असर महिलाओं और पुरुषों दोनों की फर्टिलिटी पर पड़ता है। ऐसे में यदि अच्छी नौकरी, मकान और गाड़ी खरीदने के बाद कपल बच्चे की प्लानिंग करते हैं, तो गर्भधारण में डॉक्टर से एडवाइज लेना जरूरी है।

गर्भधारण में डॉक्टर से एडवाइज लेने को प्रीकॉन्सेप्शन चेकअप कहते हैं और आज की जीवनशैली में यह बेहद जरूरी हो जाता है, ताकि पता चल सके कि महिला प्रेग्नेंट होने के लिए पूरी तरह स्वस्थ है या नहीं। यदि किसी तरह की स्वास्थ्य समस्या है तो चेकअप के दौरान इसका पता चल जाता है जिससे समय रहते इलाज हो जाता है। यदि आप भी बच्चे की प्लानिंग कर रहे हैं तो गर्भधारण में डॉक्टर से एडवाइज अवश्य लें।

रिप्रोडक्टिव हिस्ट्री
इसमें डॉक्टर आपसे पहले हुई प्रेग्नेंसी, मासिक धर्म, कॉन्ट्रासेप्टिव का इस्तेमाल, पहले हो चुके पैप टेस्ट का परिणाम या आपको पहले कभी हो चुकी सेक्शुअली ट्रांसमिटेड डिजीज या वजायनल इंफेक्शन के बारे में चर्चा करेगा।

सर्जिकल हिस्ट्री
यदि आपकी किसी तरह की सर्जरी हुई है तो उसके बारे में भी डॉक्टर को बताएं। खासतौर पर यदि किसी तरह की गायनेकोलॉजिक सर्जरी हुई तो उसके बारे में अपने डॉक्टर को अवश्य बताएं। जैसे फाइब्रॉएड्स या असामान्य पैप स्मियर्स आदि। यदि पहले गायनेकोलॉजिक सर्जरी हो चुकी है तो डॉक्टर उसके आधार पर डॉक्टर निर्णय लेगा कि गर्भधारण के बात आपकी प्रेग्नेंसी को किस तरह मैनेज करना है।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *