बिमार व्यवस्था: मरीज के शव को नहीं मिला एंबुलेंस, तो ठेले पर लादकर घर ले गए पति और बच्चा

बिहार के स्वास्थ्य विभाग की सच्चाई ठेले पर दिखी। भागलपुर में ये बानगी उस समय देखने को मिली जब नाथनगर से एक महिला पहले निजी अस्पताल फिर सदर अस्पताल ठेला पर इलाज कराने के लिए पहुंचती है। महिला मरीज पेट और शरीर में दर्द को लेकर परेशान थी।

सदर अस्पताल में घंटों इंतजार के बाद रेफर कर दिया गया, लेकिन परिजनों को ऐम्बुलेंस नहीं मिला। जबकि अस्पताल में ऐंबुलेंस लगा था, लेकिन ऐंबुलेंस में ड्राईवर नहीं था।

परिजन इंतजार करते रहे, लेकिन मौत के बाद भी परिजनों को ऐबुलेंस नहीं मिला, तो परिजन व्यवस्था का दंश झेलते रोते हुए ठेला पर ही वापस अपने गांव ले जाने को मजबूर हुए।

दोस्तों यह पोस्ट आपको कैसी लगी हमें कमेंट करके जरूर बताएं और अगर यह पोस्ट आपको पसंद आई हो तो इसे ज्यादा से ज्यादा शेयर लाइक करना ना भूलें और अगर आप हमारे चैनल पर नए हैं तो आप हमारे चैनल को फॉलो कर सकते हैं ताकि ऐसी खबरें आप रोजाना पा सके धन्यवाद।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *