पितृ पक्ष में ब्राह्मण भोजन में क्या बनाना सही होगा?

पितृ पक्ष में माना जाता है कि आपके पितृ यानी आपके पूर्वजों की आत्मा ब्राह्मण वेश में भोजन ग्रहण करती है। ऐसे में वह आपके घर एक मेहमान रूप में आते है, और उनका आदर सत्कार एक मेहमान जैसे ही करना चाहिये पकवानों और अच्छे अच्छे व्यंजनों के साथ। उत्तरी भारत में उरद की दाल का बहुत महत्त्व माना गया है, इसीलिए कुछ लोग उन्हें उरद की दाल की कचोरी, दाल के वड़े कभी कभी इमरती भी खिलाते है।

खाना शाकाहारी होना चाहिए लेकिन सात्विक हो जरूरी नहीं इसीलिए तामसिक भोजन जैसे तला हुआ खाना आप उन्हें दे सकते है। कहते है और शास्त्रों में भी लिखा है कि पितृ केवल अन्न की खुशबू से ही अन्न ग्रहण कर लेते हैं, इसीलिए पकवानों की खुशबू ही उन्हें आपके द्वारा दिए हुए मान सम्मान और भाव लगते है, और वह आपको उन्नति के आशीर्वाद देते है।

उनके निमित्त गौ ग्रास, काक ग्रास और कुत्ते का ग्रास जरूर निकाले, क्योंकि कहा जाता है कि पितृ लोक से आते समय ये सभी उनसे अपना हिस्सा जरूर मांगते है, तो उन्हें ये जरूर दे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.